दिल्ली हिंसा प्री-प्लान्ड, इस्तीफा दें गृह मंत्री अमित शाह:सोनिया गांधी

0
60

दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक आज हुई. बैठक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मौजूद रहे. बैठक में हिंसा के दौरान मरने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी गई.

बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि दिल्ली की मौजूदा हालात चिंताजनक है. एक साजिश के तहत हालात बिगड़े. बीजेपी नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिए. चुनाव के दौरान नफरत फैलाया. दिल्ली की स्थिति के लिए केंद्र सरकार और गृह मंत्री अमित शाह जिम्मेदार हैं. गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए.

सोनिया गांधी ने पूछे सवाल

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूछा कि रविवार को गृह मंत्री कहां थे और क्या कर रहे थे? हिंसा वाली जगहों पर कितनी पुलिस फोर्स लगी? बिगड़ते हालात के बाद भी सेना की तैनाती क्यों नहीं की गई? दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल क्या कर रहे थे?

यह भी पढ़े  मध्य प्रदेश में करीब 6 बीजेपी विधायक थाम सकते हैं कांग्रेस का हाथ?

चिदंबरम ने पुलिस पर साधा निशाना

बैठक से पहले कांग्रेस नेता और पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने दिल्ली पुलिस पर निशाना साधा. चिदंबरम ने अपनी ट्वीट में कहा कि चाहे गृह मंत्री हो या फिर गृह मंत्रालय, सरकार का कर्तव्य है कि वह हिंसा को रोके. हिंसा सोमवार से जारी है और अब भी हिंसा की घटनाएं हो रही हैं. यह दिल्ली पुलिस की भारी विफलता को दिखाता है.

तनाव बरकरार, अब तक 20 की मौत

फिलहाल, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हिंसा के चलते तनाव बरकरार है. हिंसा में मरने वालों की संख्या 20 तक जा पहुंची है, तो वहीं करीब 200 लोग घायल बताए जा रहे हैं. हिंसा में घायलों की सुरक्षा और बेहतर इलाज के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में जस्टिस एस. मुरलीधर के घर आधी रात को सुनवाई हुई. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को मुस्तफाबाद के एक अस्पताल से एंबुलेंस को सुरक्षित रास्ता और मरीजों को सरकारी अस्पताल में शिफ्ट करने का निर्देश दिए.

यह भी पढ़े  63वीं बीपीएससी परीक्षा का परिणाम जारी,श्रीयांश तिवारी बने बीपीएससी टॉपर

केंद्र ने अजित दोभाल को मैदान में उतारा

दिल्ली हाई कोर्ट में आज दोपहर सवा दो बजे फिर इस मामले पर सुनवाई होगी. पुलिस को स्टेटस रिपोर्ट सौंपने को कहा, तो वहीं केन्द्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एनएसए अजित डोभाल को मैदान में उतारा है. डोभाल ने देर रात नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया. डोभाल पुलिस अधिकारियों के साथ नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के सीलमपुर पहुंचे और हालात का जायजा लिया.

दिल्ली से लगे तीन बॉर्डर सील

दिल्ली हिंसा को देखते हुए नार्थ ईस्ट दिल्ली की तरफ से गाजियाबाद आने वाले 3 बॉर्डर को सील कर दिया गया है. साथ ही पश्चिमी यूपी के इलाकों में खास तौर पर नोएडा, गाजियाबाद, हापुड़, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, संभाल जैसे जिलों में सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता किया गया है. इस बीच देर शाम सीबीएसई ने आज होने वाली दसवीं और बारहवीं की परीक्षा को उत्तर पूर्वी और पूर्वी दिल्ली के कुल 86 स्कूलों में स्थगित कर दिया है. हिंसा प्रभावित इलाकों में आज स्कूल भी बंद रहेंगे.

यह भी पढ़े  निजामुद्दीन मामलाः मरकज में शामिल होने के बाद बिहार पहुंचे थे 86 लोग,खोजे गए 37 लोग, बाकियों की तलाश जारी

घायलों से मिले नेता

दिल्ली हिंसा में अबतक 56 पुलिसवालों समेत 200 लोग घायल हो गए हैं. इसके बाद घायलों से मिलने के लिए तमाम नेता अस्पताल पहुंचे और उनका हाल जाना. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी और केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here