दिल्ली में हुए हिंसा में अबतक 7 लोगों की मौत, तैनात की गई पैरामिलिट्री फोर्स की 15 कंपनियां,LG-केजरीवाल से मिलेंगे शाह

0
21

संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली में अलग-अलग इलाकों में हुए हिंसा में अबतक 7 लोगों की मौत हो गई है जबकि 70 के करीब लोग घायल हैं। हिंसा के बाद पुलिस अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। फिलहाल इन इलाकों में हालात काबू में हैं।

नागरिकता कानून संशोधन (सीएए) को लेकर शुरु हुआ बवाल उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब खतरनाक मंजर अख्तियार करता जा रहा है. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार को जमकर हिंसा हुई. मंगलवार को भी मौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में पत्थरबाजी शुरू हो गई. दिल्ली हिंसा में अबतक 7 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं. साथ ही 100 से ज्यादा घायल हैं.

मंगलवार सुबह भी हालात तनावपूर्ण है. सुबह-सुबह पांच मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया गया. मौके पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात है. देर रात से सुबह तक मौजपुर और उसके आस-पास इलाकों में आगजनी के 45 कॉल आए, जिसमें दमकल की एक गाड़ी पर पथराव किया गया, जबकि एक दमकल की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया. तीन दमकलकर्मी घायल हुए है.

यह भी पढ़े  महिला पुलिसकर्मी की मौत पर हंगामा,स्थिति तनावपूर्ण मगर नियंत्रण में

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आपात बैठक बुलाई. इस बैठक के बाद केजरीवाल ने कहा कि पुलिस को ऊपर से कार्रवाई का आदेश नहीं है, इसलिए वह उचित कार्रवाई नहीं कर पा रही है. सीमाई इलाकों से लोग दिल्ली आ रहे हैं और हिंसा कर रहे हैं. हमने बॉर्डर को सील करने और उपद्रवियों पर कार्रवाई की मांग की है.

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में आज सुबह से फिर आगज़नी शुरू हो गई है। मौजपुर में हंगामा हो रहा है और पांच बाइकों को आग लगा दी गई है। कल दोपहर से इस इलाके में हिंसा और आगज़नी चल रही है। रात को हालात थोड़ा काबू में थे लेकिन आज सुबह से फिर आगज़नी शुरू हो गई है और फिलहाल खबर ये है कि पांच बाइकों में आग लगा दी गई है। इधर, ब्रह्मपुरी इलाके में भी पत्थरबाजी हुई है। हिंसा को देखते हुए दिल्ली मेट्रो के कई स्टेशन आज भी बंद रहेंगे। जाफराबाद, मौजपुर, गोकुलपुरी, जौहरी इन्कलेव और शिव विहार स्टेशन आज बंद रहेंगे।

वहीं पुलिस का कहना है कि स्थिति बहुत तनावपूर्ण बना हुआ है। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से हिंसा से संबंधित फोन कॉल लगातार मिल रही हैं। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के फायर डायरेक्टर का भी कहना है कि सुबह 3 बजे से आगजनी के 45 कॉल आ चुके हैं। तीन फायरमैन भी घायल हो गए हैं और दमकल की एक गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया है।

यह भी पढ़े  शमी की ऐतिहासिक हैट्रिक से भारत ने पूरा किया जीत का अर्धशतक

बता दें कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली में अलग-अलग इलाकों में हुए हिंसा में अबतक 5 लोगों की मौत हो गई है जबकि 70 के करीब लोग घायल हैं। हिंसा के बाद पुलिस अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। फिलहाल इन इलाकों में हालात काबू में हैं। प्रभावित इलाकों में पैरामिलिट्री फोर्स की 15 कंपनियां तैनात की गई है। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस के जवान भी तैनात हैं। साथ ही दिल्ली के दस जगहों पर धारा 144 लगाई गई है।

यमुनाविहार, मौजपुर में देर रात आगजनी की घटनाएं सामने आई हैं। रात भर दिल्ली पुलिस के आला अधिकारी नार्थ ईस्ट दिल्ली में गश्त करते नजर आए। हिंसा के दौरान हुए पत्थरबाजी में गोकुलपुरी के एसीपी अनुज कुमार भी घायल हो गए हैं। गोकुलपुरी इलाके में देर रात तक हिंसा हुई। उपद्रवियों ने टायर मार्केट में आग लगा दी।

अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लगभग रात साढ़े आठ बजे भयावह आग लगने के बारे में सूचना मिली। इसके बाद आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 15 गाड़ियां भेजी गई थीं। अधिकारी ने कहा कि कई दुकानों में आग लग गई थी और रात 11:40 बजे तक आग पर काबू पा लिया गया था।

यह भी पढ़े  सवर्णों को आरक्षण की मांग को लेकर बिहार बंद

गोकुलपुरी इलाके में सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है। कल इलाके में दो समूहों के बीच झड़प हुई थी, जिसके दौरान दिल्ली पुलिस के एक हेड कांस्टेबल की जान चली गई थी और शाहदरा DCP अमित शर्मा घायल हो गए थे।

आलोक कुमार, संयुक्त पुलिस आयुक्त: पुलिस द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। हर जगह पुलिस तैनात की गई है- ब्रह्मपुरी, मौजपुर, चांद बाग, करावल नगर और खजूरी हर जगह पुलिस पहुंच गई है। हमारी तरफ से समुदायों को समझाकर शांति बनाए रखने के प्रयास किए जा रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here