शाहीन बाग: प्रदर्शनकारियों का अड़ियल रवैया बरकरार, मीडिया के सामने वार्ता पर अड़े

0
29

अब से थोड़ी देर बाद सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के वार्ताकार शाहीन बाग (Shaheen Bagh) वार्ता के लिए जाएंगे. आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के वार्ताकारों का लगातार यह तीसरा दिन होगा जब वो शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन बिल (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को अपना प्रदर्शन शाहीन बाग से हटाकर कहीं और रख लें, यह बात समझाने के लिए. इसके पहले सुप्रीम कोर्ट के वार्ताकार 19 फरवरी और 20 फरवरी को भी शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों को समझाने के लिए धरना प्रदर्शन स्थल पर बातचीत के लिए गए थे. वार्ताकारों ने बताया कि प्रदर्शनकारी शाहीन बाग का रास्ता छोड़ने के लिए तैयार नहीं है उनकी 2 दिन पहले भी प्रदर्शनकारियों के साथ बातचीत बेनतीजा रही है.

मीडिया के सामने होगी बातचीत: प्रदर्शनकारी

हालांकि, आज तीसरे दिन वार्ताकारों के शाहीन बाग पहुंचने से पहले प्रदर्शनाकरियों ने कहा कि वे मीडिया के सामने ही  बातचीत करेंगे. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि अगर वार्ताकार मीडिया को बाहर जाने के लिए कहते हैं, तो फिर कोई बातचीत नहीं होगी. बता दें कि इससे पहले दोनों दिन बातचीत मीडिया के सामने नहीं हुई थी. वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों से समस्या का समाधान निकालने के लिए खुद ही बातचीत करने की कोशिश में लगे रहे.

यह भी पढ़े  भारत ने विशेष विमान वुहान भेजने से पहले पाक समेत सभी को दिया था मदद का प्रस्ताव- विदेश मंत्री एस जयशंकर

वार्ताकार शाम 6:30 बजे जाएंगे शाहीन बाग

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बुधवार को वार्ताकार सीनियर एडवोकेट संजय हेगड़े और सीनियर एडवोकेट साधना रामचंद्रन शाहीन बाग पहुंचे. उन्होंने मंच पर पहुंचकर सुप्रीम कोर्ट का आदेश पढ़ा और फिर शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से सुलह पर बातचीत की. इसके बाद वार्ताकार लौट गए. वहीं, वार्ताकार गुरुवार को फिर से शाहीन बाग पहुंचे, हालांकि दोनों दिन की बातचीत पर कोई हल नहीं निकला. अब वार्ताकार बातचीत के लिए आज शाम फिर शाहीन बाग जाएंगे.

सुप्रीम कोर्ट से वार्ताकारों की नियुक्ति

बता दें कि शाहीन बाग चल रहे प्रदर्शन के कारण कालिंदी कुंज सड़क बंद है. आम लोगों को आने-जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी. जिस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के लिए तीन वार्ताकार नियुक्त किए. इन तीन में से दो वार्ताकार वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े और वरिष्ठ वकील साधना रामचंद्रन लगातार प्रदर्शकारियों से बातचीत में जुटे हैं.

यह भी पढ़े  बिहार में पांच हजार गांवों को डिजिटल विलेज बनायेंगे :रविशंकर प्रसाद

बीते दिन वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों से पूछा कि रास्ता कैसे खुलेगा, तो प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जब तक CAA वापस नहीं लिया जाएगा, तब तक हम एक इंच भी पीछ नहीं हटेंगे.

नाराज हो गई थीं साधना रामचंद्रन

वहीं, गुरुवार को दूसरे दिन की बातचीत में वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों के सामने इस बात पर जोर दिया कि सड़क खुल जाए और प्रदर्शन भी चलता रहे. शाहीन बाग में ऐसा कोई रास्ता निकाला जाए. बीते दिन काफी देर तक आंदोलनकारियों और वार्ताकारों के बीच बातचीत का सिलसिला चलता रहा. अंत में जब कोई नतीजा निकलता नहीं दिखा तो बात करने लायक माहौल ना होने की बात कहकर साधना रामचंद्रन नाराज हो गईं.

हेगड़े बोले- सहमति से निकले हल

वहीं, वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े ने प्रदर्शनकारियों से कहा, आप ये कह रहे हैं कि अगर आप यहां से निकले तो और कोई नहीं आएगा सुनवाई के लिए. यही तो डर है ना कि कोई नहीं आएगा सुनने वाला. आज जब तक सुप्रीम कोर्ट है, आपकी सुनवाई कोई नहीं रोक सकता. आपके लिए आपकी तरफ से हम बहुत सारे वकील हैं, जो कोर्ट में आपकी बात बहुत बुलंद तरीके से रखेंगे. पर ये नहीं है कि सुप्रीम कोर्ट सुन नहीं रही है. हम यही देखने आए हैं कि कुछ हल निकले आपकी तरफ से निकले, आपकी सहमति से निकले.

यह भी पढ़े  COVID-19 पर बिहार सरकार का बड़ा फैसला, पटना का NMCH बनेगा कोरोना स्पेशल अस्पताल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here