विकासपुरुष हैं नीतीश, फिर भी 2005 से बिहार की स्थिति जस की तस क्यों:प्रशांत

0
24

पॉलीटिकल मैनेजर प्रशांत किशोर ने आज बड़ा ऐलान किया. पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि मेरा और नीतीश जी का संबंध राजनीतिक नहीं था. वह मुझे अपना बेटा मानते थे. नीतीश जी के फैसले का मैं दिल से स्वागत करता हूं. प्रशांत किशोर ने आरोप लगाया कि नीतीश जी उनके साथ हैं, जो गोडसे की विचारधारा को मानते हैं. गांधी और गोडसे एक साथ नहीं चल सकते हैं.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि बीजेपी के साथ नीतीश कुमार के रहने से बिहार का विकास हुआ. 15 साल में बिहार में खूब विकास हुआ है, लेकिन विकास की गति धीमी है. 2005 में जो बिहार की स्थिति थी, आज भी वही स्थिति है. कैपिटल इनकम में बिहार 2005 में भी 22वें नंबर पर था, आज भी उसी नंबर पर है.

चुनाव लड़ने या लड़ाने के लिए नहीं आया
प्रशांत किशोर ने कहा कि पिछली सरकारों ने कुछ नहीं किया, इसलिए नीतीश जी को लगता है कि जो किया बहुत किया. मैं इसलिए नही बैठा हूं कि कोई राजनैतिक दल बना कर चुनाव लडूं. बिहार में मैं चुनाव लड़ने और लड़ाने के लिए नहीं आया हूं. मैं जबतक जिंदा हूं, तबतक मैं बिहार की सेवा करूंगा. इसके लिए एक कैंपेन की शुरुआत करूंगा.

यह भी पढ़े  विधायक आनंद भूषण के निधन से भाजपा में शोक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here