अबकी बार दिल्ली चुनाव में राष्ट्रवाद Vs शाहीन बाग!

0
20

दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस बार लड़ाई राष्ट्रवाद Vs शाहीन बाग की हो गई है. बीजेपी सीधा सवाल अरविंद केजरीवाल से पूछ रही है. लेकिन बीजेपी के सवालों का सीधा जवाब देने से टीम केजरीवाल बच रही है.

ये सवल तो बीजेपी (BJP) का है. लेकिन इसका जवाब दिल्ली की जनता जानना चाहती है. दरअसल दिल्ली के चुनाव में लड़ाई शाहीन बाग vs राष्ट्रवाद पर आ गई है. सोमवार को दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी रैली में गृह मंत्री अमित शाह ने अरविंद केजरीवाल को टुकड़े-टुकड़े गैंग का सदस्य बताया. अमित शाह ने केजरीवाल से पूछा है कि क्या वो शरजील इमाम को पकड़ने के पक्ष में हैं या नहीं.

बीजेपी को लगता है कि शाहीनबाग से देशविरोधी साजिशें रची जा रही हैं तभी तो कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि शाहीन बाग कोई जगह नहीं, बल्कि एक विचार है जहां देशविरोधियों को मंच दिया जा रहा है. कानून मंत्री ने कहा कि शाहीन बाग अब दिल्ली का एक मोहल्ला नहीं है, शाहीनबाग एक भूगोल का टुकड़ा नहीं है, शाहीन बाग एक विचार है जहां भारत के झंडे और भारत के संविधान का कवर है और भारत को तोड़ने वालों को मंच दिया जाता है.

यह भी पढ़े  बिहार से फोर्ब्स की सूची में अब तक चार लोग, प्रशांत किशोर-कन्हैया के पहले संप्रदा व अनिल शामिल

जब बीजेपी ने शाहीनबाग के मुद्दे पर टीम केजरीवाल को घेरा तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुप्पी तोड़ी. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि, ‘शाहीन बाग में बंद रास्ते की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है. बीजेपी नहीं चाहती कि रास्ते खुलें. बीजेपी गंदी राजनीति कर रही है. बीजेपी के नेताओं को तुरंत शाहीन बाग जाकर बात करनी चाहिए और रास्ता खुलवाना चाहिए.’

उधर, कांग्रेस को भी लगता है की दिल्ली चुनाव में नागरिकता कानून और NRC मुद्दा बनता जा रहा है. कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि, ‘चुनाव जरूर है दिल्ली में लेकिन क्या दिल्ली में CAA और NRC जैसे मुद्दे मुख्य मुद्दे बन जाएंगे? और भारतीय जनता पार्टी सिर्फ इन्हीं मुद्दों की बात करेगी?

आपको बता दें कि शाहीन बाग में पिछले 43 दिन से प्रदर्शन जारी है. सड़कों पर प्रदर्शनकारियों का कब्जा है. सवाल उठता है कि क्या शाहीनबाग से नागरिकता कानून के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है. जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के वायरल वीडियो और PFI पर ज़ी न्यूज़ के खुलासे के बाद से तो ऐसा ही लगता है कि शाहीनबाग के जरिए नागरिकता के नाम पर जहर और कहर का खौफ बनाया जा रहा है.

यह भी पढ़े  ठीके तो हैं नीतीश कुमार, स्लोगन पर सियासत तेज ,जदयू और राजद में पोस्टर वार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here