सीएए के मुद्दे को लेकर विपक्ष पर आम लोगों के बीच भ्रम फैलाने का आरोप लगाया है: मोदी

0
27

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने CAA और NRC को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने सीएए के मुद्दे को लेकर विपक्ष पर आम लोगों के बीच भ्रम फैलाने का आरोप लगाया है. सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘विपक्ष इस मुद्दे पर आम लोगों के बीच भ्रम पैदा करना चाहता है. उन्हें याद रखना चाहिये कि वो जितना भी सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर धुव्रीकरण का प्रयास करेंगे, उतना ही इसके खिलाफ धुव्रीकरण होगा और बीजेपी मजबूत होगी.’ मोदी ने कहा कि सीएए के पक्ष में भी लोग खड़े हो रहे हैं, लेकिन मीडिया उनको वाजिब जगह नहीं मिल रही है.

‘ज्यादातर लोग एक ही समुदाय के’
नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन में गरीब और दलितों के शामिल होने पर सुशील मोदी ने कहा कि इन विरोध-प्रदर्शनों में शामिल होने वाले 99% लोग एक ही समुदाय के हैं. उन्होंने कहा कि इसमें दलितों और गरीबों की संख्या ज्यादा नहीं है.

यह भी पढ़े  सिजेरियन से प्रसव कराए जाने के विरोध में र्चचा करेंगी महिला डॉक्टर

‘पीएम मोदी की माननी चाहिए बात’

इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में सुशील मोदी ने कहा कि जब हमारे सर्वोच्च नेता (पीएम नरेंद्र मोदी) ने कहा है कि NRC को लागू नहीं किया जाएगा, तो मामला वहीं खत्म हो जाता है. उन्होंने कहा कि हमने कई बार कहा है कि एनपीआर यूपीए शासन के दौरान पेश किया गया था और इसका डेटा केवल जनगणना के लिए उपयोग किया जाता है. उन्होंने कहा कि एनपीआर में पूछे गए सवालों के जवाब देना अनिवार्य नहीं है.

‘लोगों को समझाने में रहे असफल’
सुशील कुमार मोदी ने कहा कि सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर इस तरह के विरोध-प्रदर्शनों की उम्मीद नहीं थी. उन्होंने कहा कि शायद हम लोगों को समझाने में असफल रहे. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि विपक्षी दलों ने इस कानून के बारे में झूठ फैलाने के लिए ओवरटाईम भी किया. उन्होंने कहा कि हमने ट्रिपल तलाक के खिलाफ बड़ा विरोध देखा है और यह अंत में आया है. उनका मानना है कि लोगों को धीरे-धीरे सीएए की सच्चाई पता चल रही है.पवन वर्मा के आरोपों पर कही यह बात
बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने जेडीयू नेता पवन वर्मा के सीएम नीतीश के साथ आरएसएस के संबंध में व्यक्तिगत बातचीत पर भी अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि नीतीश उनके साथ 1996 से साथ में हैं. इसके साथ हमने 12 साल तक बिहार में साथ में सरकार चलाई है. मोदी का कहना है कि वो बीजेपी को अच्छी तरह से जानते हैं. वर्मा अपनी राजनीति कर रहे हैं, जिसका जवाब नीतीश ने दे दिया है. हमारा गठबंधन अटूट है. मोदी ने जेडीयू नेता प्रशांत किशोर के खुद को टार्गेट करने के सवाल पर कोई भी जवाब देने से इंकार कर दिया.

यह भी पढ़े  पुलिस लाइन में तोड़फोड़ पर सरकार ने लिए एक्शन , मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव ने मांगी पूरे मामले की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here