बिहार में एक बार फिर पोस्टर वार- RJD ने नीतीश कुमार और सुशील मोदी को बताया ‘ट्रबल इंजन’

0
21

बिहार में राजनीतिक दलों के बीच चल रहा पोस्टर वार थमने का नाम नहीं ले रहा है। राजधानी पटना में राष्ट्रीय जनता दल ने एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड की सरकार पर पोस्टर के जरिए निशाना साधा है। इस बार पोस्टर में सीएम नीतीश कुमार को लूट एक्सप्रेस और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी को झूठ एक्सप्रेस बताया गया है। पोस्टर में सबसे ऊपर लिखा है बिहार को बर्बाद करनेवाला ट्रबल इंजन और नीचे सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम सुशील मोदी ट्रेन के रूप में दिखाए गए हैं।

दरअसल राज्य और केंद्र में एक ही गठबंधन की सरकार है। बिहार में इसे सत्ताधारी दल डबल इंजन की सरकार बताते हैं। आरजेडी ने उसी पर हमला बोलते हुए डबल इंजन को ट्रबल इंजन बताया है।

इससे पहले भी बिहार में जदयू और राजद ने पोस्टर के जरिए एक-दूसरे पर निशाना साधा था। जहां जदयू ने राजद के 15 साल बनाम 15 साल की तुलना करते हुए पोस्टर लगाया था, जिसमें लिखा था-हिसाब दो, हिसाब लो। तो इसके जवाब में राजद ने पोस्टर लगाया था जिसमें लिखा था ‘झूठ की टोकरी, घोटालों का धंधा’।

यह भी पढ़े  ‘सूबे में अब तक 80 फीसद से अधिक क्षेत्र में हुई धान की रोपनी’

इससे पहले जदयू के पार्टी कार्यालय के बाहर एक बड़ा पोस्टर लगाया गया था जिसमें बिहार में जदयू ने 15 साल बनाम 15 साल के शासन को दिखाते हुए राजद की तुलना गिद्ध से की गई थी तो वहीं जदयू ने खुद को कबूतर, यानि शांति का प्रतीक बताया था।

इसके बाद आरजेडी ने नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के व्यक्तित्व की तुलना करते हुए आधा दर्जन से अधिक पोस्टर जारी किया था. आरजेडी ने अपने पोस्टर में एक तरफ लालू प्रसाद की तस्वीर लगाकर उन्हें ‘बिहार का बल’ बताया था तो उसके ठीक सामने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर लगाकर उनके बारे में ‘बिहार का छल’ टिप्पणी की थी।

इसी प्रकार लालू को ‘जनसेवा के जनक‘ तो सीएम को ‘कुर्सी की सनक’ लिखकर दिखाया गया है। अन्य पोस्टरों में भी ‘जनता का सुख’ बनाम ‘कुर्सी की भूख’, ‘जनता का सारथी’ बनाम ‘कुर्सी का लालची’, ‘एकता अखंडता का मंत्र’ बनाम ‘स्वार्थ, छल षणयंत्र’ और ‘गरीब का बल’ बनाम ‘गरीब से छल’ जैसे नारों के दोनों पार्टी प्रमुखों की तुलना की गई थी।

यह भी पढ़े  INX केस: गिरफ्तारी के 2 महीने बाद पी चिदंबरम को बेल, मगर जारी रहेगी जेल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here