मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की समीक्षा की

0
33

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 1 अणे मार्ग स्थित संकल्प में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की समीक्षा की। आयुष्मान भारत योजना को दो भागों प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं हेल्थ वेलनेस सेंटर के रूप में क्रियान्वित किया जा रहा है।

पटना: बिहार सरकार की तरफ से आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) को लेकर केंद्र को सुझाव भेजे जाएंगे. इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने अधिकारियों को निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों को मिले, इसके लिए काम किया जाना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने आयुष्मान योजना की समीक्षा की. इस दौरान उन्हें बताया गया कि देश में दस करोड़ लोगों का हेल्थ कार्ड बना है, जिसमें बिहार के 1.08 करोड़ लोग शामिल हैं.

वहीं, बैठक के दौरान स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री को प्रेजेंटेशन दिया और कहा कि आयुष्मान योजना को भागों में चलाया जा रहा है. एक प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और दूसरी हेल्थ वेलनेस सेंटर के रूप में.

यह भी पढ़े  आज से फिर शुरू होगी मेगा वाहन जांच

उन्होंने कहा कि जिन परिवारों का कार्ड बना है, उन्हें पांच लाख तक की मदद इलाज में दी जा रही है. इसके साथ ही बिहार में अब तक 764 अस्पतालों में आयुष्मान योजना के तहत इलाज हो रहा है. इनमें 570 सरकारी और 194 निजी अस्पताल शामिल हैं.

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने वेलनेस सेंटर को लेकर मुख्यमंत्री के सामने प्रेजेंटेशन दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि राज्य स्वास्थ्य समिति की ओर से इसका क्रियान्वयन किया जा रहा है. इसके तहत पब्लिक हेल्थ मैनेजमेंट को बेहतर किया जा रहा है.

प्रधान सचिव ने बीमारियों और उनके इलाज के बारे में विस्तृत जानकारी दी और बताया कि कैसे वेलनेस सेंटर काम कर रहे हैं. संजय कुमार ने पब्लिक हेल्थ मैनेंजमेंट फॉर बिहार की स्थापना का प्रस्ताव रखा और इसकी विस्तृत कार्ययोजना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने रखी.

संजय कुमार ने कहा कि पब्लिक हेल्थ मैनेजमेंट को एक चैलेंज के रूप में लिया गया है. इसके लिए प्रोफेशनल कैडर की जरूरत है, जिसके लिए काम शुरू हो गया है. अगर लीडरशिप प्रोफेशनल होगी, तो व्यवस्थित रूप से कामों का संचालन किया जा सकेगा.

यह भी पढ़े  1990 के बाद के मजदूरों को हटाने पर अड़़ी सरकार

उन्होंने कहा कि बिहार में मिडिंडा एंड बिल गेट्स फाउंडेशन की ओर से कराए जा रहे कामों की प्रगति की जानकारी भी मुख्यमंत्री को दी गई. दोनों प्रेजेंटेशन देखने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हुई हैं. अब लोग सरकारी अस्पतालों में जाकर इलाज करा रहे हैं. आयुष्मान योजना का ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभ मिले, इसके लिए प्रयास करना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here