आज 15 जनवरी 2020 का इतिहास

0
64

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 15 जनवरी वर्ष का 15 वाँ दिन है। साल में अभी और 350 दिन शेष हैं। (लीप वर्ष में 351 दिन)

15 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1759 – लंदन स्थित मोंटेगुवे हाउस में ब्रिटिश संग्रहालय की स्थापना हुई।

1784 – एशियेटिक सोसायटी आॅफ बंगाल की स्थापना।

1918 – यशवंत अग्रवाडेकर गोमांतक दल के बहुत उग्र क्रांतिकारी थे।

1934 – बिहार में जबरदस्त भूकंप से करीब 20 हजार लोगों की मौत।

1949 – के एम करियप्पा भारतीय थल सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ बने। तब से 15 जनवरी को सेना दिवस के रूप में मनाया जाता है।

1965 – भारतीय खाद्य निगम की स्थापना।

1975 – पुर्तग़ाल ने अंगोला की आजादी के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये।

1986 – थल सेना के प्रथम कमांडर इन चीफ के एम करियप्पा (सेवानिवृत्त) को फील्ड मार्शल की पदवी दी गई।

1988 – भारत के पूर्व गेंदबाज नरेंद्र हिरवानी ने ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल करते हुये वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने पहले टेस्ट मैच में ही 16 विकेट लिए।

1992 – बुल्गारिया ने बाल्कन के देश मैसिडोनिया को मान्यता दी।

1998 – ढाका में त्रिदेशीय भारत, बांग्लादेश तथा पाकिस्तान का शिखर सम्मेलन प्रारम्भ।

यह भी पढ़े  आज 15 दिसंबर 2018 का इतिहास

1999 – ‘एनी फ़्रैंक घोषणा पत्र’ पर हस्ताक्षर करने वाले प्रथम विश्व नेता संयुक्त राष्ट्रसंघ के महासचिव कोफी अन्नान बने, पाकिस्तान में सभी नागरिक प्रशासनिक कार्य सेना को हस्तांतरित।

2006 – ब्रिटिश हाईकोर्ट ने क्वात्रोच्चि के दो बैंक खातों पर से प्रतिबंध हटाने का आदेश दिया।

2007 – सद्दाम के सौतेले भाई एवं इराकी अदालत के पूर्व प्रमुख फ़ाँसी पर चढ़ाये गये।

2008 –

सरकारी क्षेत्र की कंपनी गैस अथोरिटी ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड (गेल) के बोर्ड ने महाराष्ट्र के दाभोल से बंगलुरु तक गैस पाइप लाइन बिछाने के प्रोजेक्ट को मंज़ूरी दी। उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने ‘गंगा र्क्सप्रेस वे परियोजना’ का शिलान्यास किया।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की चीन यात्रा के दौरान भारत-चीन सीमा विवाद पर बातचीत की गई। खगोलविदों ने धरती से 25 करोड़ प्रकाश वर्ष दूर की आकाश गंगा के जीवन के लिये ज़रूरी तत्त्व खोजने का दावा किया।

2009 – दादा साहेब फाल्के पुरस्कार विजेता व प्रसिद्ध फ़िल्म निर्माता तपन सिन्हा का निधन। फ़िल्म स्लमडॉग मिलेनियर को बाफ्टा पुरस्कार की श्रेणियों में स्थान मिला।

यह भी पढ़े  आज 16 अप्रैल 2018 का इतिहास

2010 – तीन घंटे से भी अधिक की अवधि वाला शताब्दी का सबसे लंबा सूर्य ग्रहण लगा। भारत में यह 11 बजकर 06 मिनट पर शुरू होकर 3 बजकर पाँच मिनट पर खत्म हुआ। दोपहर 1.15 पर सूर्य ग्रहण अपने चरम पर था. यह वलयाकार सूर्य ग्रहण था। इसके कारण ऊपरी वातावरण पर तथा पृथ्वी के वातावरण पर पड़ने वाले प्रभावों के अध्ययन के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने छह रॉकेटों का प्रक्षेपण किया।

2013 – सीरिया की अलेप्पो यूनिवर्सिटी में रॉकेट हमले में 83 लोगों की मौत तथा 150 लोग घायल।

2016 – पश्चिमी अफ्रीकी देश बुर्किना फासो में ऑगाडोगू के होटल में आतंकवादी हमले में 28 लोगों की मौत तथा 56 लोग घायल।

15 जनवरी को जन्मे व्यक्ति

1856 – अश्विनी कुमार दत्त – भारत के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ, सामाजिक कार्यकर्ता और देश भक्त
1921- बाबासाहेब भोसले – राजनीतिज्ञ, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री
1956- मायावती – राजनीतिज्ञ
1957- भानुप्रिया अभिनेत्री
1982- नील नितिन मुकेश अभिनेता
1888- सैफ़ुद्दीन किचलू- पंजाब के स्वतंत्रता सेनानी।
1938 – चुनी गोस्वामी – प्रसिद्ध भारतीय फ़ुटबॉलर हैं।
1926 – खाशाबा जाधव – भारत के ऐसे पहले कुश्ती खिलाड़ी थे, जिन्होंने हेलसिंकी ओलम्पिक में कांस्य पदक जीता था।

यह भी पढ़े  आज 29 सितंबर का इतिहास

15 जनवरी को हुए निधन
1998 – गुलज़ारीलाल नन्दा – भारत के भूतपूर्व कार्यकारी प्रधानमंत्री
2009 – तपन सिन्हा – प्रसिद्ध फ़िल्म निर्देशक
2012 – होमाई व्यारावाला – भारत की प्रथम महिला फ़ोटो पत्रकार।
1761 ई. – सदाशिवराव भाऊ – भारतीय इतिहास में प्रसिद्ध एक मराठा वीर थे।

15 जनवरी के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव
मकर सक्रांति
थल सेना दिवस
अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोह दिवस (10 दिवसीय)
राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here