कम पढ़े-लिखे होने के कारण समझ नहीं आ रहा NPR:चिराग

0
56

लोजपा सुप्रीमो और जमुई सांसद चिराग पासवान ने एनपीआर यानी राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को लागू करने को सही बताते हुए कहा कि यह जनगणना की एक सामान्य प्रक्रिया है जो देश में पहले से ही चलती आ रहा है, लेकिन विपक्ष एनपीआर को एनआरसी और सीएए को मिलाते हुए देशभर में भ्रम की स्थिति पैदा कर रहा है, जो कि कहीं से भी जायज नहीं है. दिग्भ्रमित कर देश की स्थिति जिस तरह से विपक्ष खराब कर रहा है, उसे आने वाले समय में कोई माफ नहीं करेगा.

अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर आए चिराग पासवान ने जमुई परिसदन में बात करते हुए कहा है कि एनपीआर (राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर) का लागू होना कोई नई बात नहीं है. एनपीआर इस देश में पहले से ही लागू है और यह जनगणना की एक प्रक्रिया है. लेकिन विपक्ष एनपीआर को एनआरसी और सीएएसए जोड़कर और उसे आपस में मिलाजुला कर लोगों को दिग्भ्रमित कर रहा है. विपक्ष देश में भ्रम की स्थिति पैदा कर माहौल को खराब कर रहा है, जो कि माफी के काबिल नहीं है. चिराग पासवान ने कहा कि वर्तमान में केंद्र की मोदी सरकार वह सारे काम कर रही है जो देश हित के लिए जरूरी थे और इसी वजह से गठबंधन के आगे विपक्ष का कोई वजूद नहीं है.

यह भी पढ़े  रामविलास पासवान बिहार से जायेंगे राज्यसभा, मोदी कैबिनेट में होंगे शामिल- सूत्र

विरोधियों को दी ये सलाह
लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान एक बार फिर दोहराया है कि विपक्ष के नेताओं को एनपीआर और संविधान संशोधन कानून को ठीक से पढ़ लेना चाहिए, समझ लेना चाहिए. विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वे लोग इसे नहीं समझ पा रहे हैं, क्योंकि विपक्ष के कई नेता की पढ़ाई लिखाई कम हुई है, जिसके कारण वैसे लोग इसे नहीं समझ रहे हैं. कांग्रेस ने ही देश में पहले एनपीआर (राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर) को लागू किया था और ऐसी स्थिति में विपक्ष का अब विरोध करना कहीं से जायज नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here