विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी माकपा

0
26
PATNA - C P I - M OFFICE ME HANAN N MULLH KA PRESS CONFRANCE

माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य हन्नान मोल्ला ने कहा कि राज्य कमेटी की दो दिवसीय बैठक में अगले साल होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव तैयारी को लेकर गहन विचार विमर्श किया गया है और जिलों से लड़ने वाली सीटों की सूची मांगी गयी। कौन-कौन सीटों पर पार्टी चुनाव लड़ेगी यह फैसला अगली राज्य कमेटी की बैठक में लिया जायेगा। पार्टी ने 20 दिसम्बर से लेकर अगले साल अप्रैल तक जन आंदोलन के कार्यक्रम तय किया है। माकपा अप्रैल महीने में पटना में राज्य स्तरीय रैली करेगी। श्री मोल्ला मंगलवार को राज्य कमेटी की बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 10 केन्द्रीय ट्रेड यूनियन एवं महासंघों के आह्वान पर 8 जनवरी 2020 को आम हड़ताल में पार्टी बढ़चढ़ कर हिस्सा लेगी। मुजफ्फरपुर एवं समस्तीपुर में दो युवतियों के साथ बलात्कार एवं उनकी हत्या, महिलाओं पर बढ़ते यौन हमलों, बलात्कारों और उनकी हत्याओं के खिलाफ 20 दिसम्बर को प्रतिरोध मार्च आयोजित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि 25 फरवरी को किसानों, मजदूरों के मुद्दे, शिक्षा, स्वास्य के साथ-साथ शहर से लेकर गांवों तक झुग्गी-झोपड़ियों, सरकारी एवं सीलिंग से फाजिल जमीनों पर बसे भूमिहीनों एवं आवासहीनों के गांवों, मोहल्लों को तोड़े जाने के खिलाफ जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जायेगा। श्री मोल्ला ने कहा कि मोदी सरकार में आर्थिक संकट आज चरम पर है। देश का सकल घरेलू उत्पाद अपने सबसे निचले स्तर 4.5 प्रतिशत तक पहुंच गया है, बेरोजगारी पिछले 45 वर्षो में सबसे ऊंचे स्तर पर है, उपभोक्ताओं की खरीदने की क्षमता पर गहरा असर पड़ा है, बिहार के मजदूर रोजी-रोटी की तलाश में देश के हर कोने में जा रहे हैं और असुरक्षा के माहौल में दिल्ली जैसे हादसों का शिकार हो रहे हैं। भारत एवं बिहार सरकार रोजी-रोटी से लोगों का ध्यान हटाने के लिए नागरिकता संशोधन कानून, कश्मीर के सवाल और अयोध्या जैसे मुद्दों के साथ-साथ न्याय व्यवस्था को तिलांजलि देकर न्याय के नाम पर गोली मारकर अराजकता को बढ़ावा दे रही है। नागरिकता संशोधन कानून के सवाल पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दोहरा चेहरा साफ हो गया है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी केन्द्र एवं राज्य सरकार की आर्थिक असफलताओं, मजदूरों-किसानों की जिंदगी से खिलवाड़ तथा संविधान के धर्मनिरपेक्ष चरित्र को दफनाने की नीतियों के खिलाफ संघर्ष तेज करेगी।निरंतर अभियान के साथ-साथ वाम जनतांत्रिक एवं धर्मनिरपेक्ष शक्तियों के साथ मिलकर जन संघर्ष तेज करेगी।श्री मोल्ला ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार सभी मोर्चे पर विफल साबित हुई है। कानून-व्यवस्था चौपट हो गयी है। हत्या, बलात्कार, लूट, अपहरण आदि घटनाओं में बेतहासा वृद्धि हुई है। जल, जीवन और हरियाली के नाम पर गरीबों को उजाड़ा जा रहा है। संवाददाता सम्मेलन में राज्य सचिव अवधेश कुमार, केंद्रीय कमेटी सदस्य अरुण कुमार मिश्र और राज्य कमेटी सदस्य मनोज चंद्रवंशी मौजूद थे।

यह भी पढ़े  सीबीएसई 12वीं में पटना के स्कूलों का लहरा परचम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here