बिक्रम में सेना के जवान ने पत्नी व साली की हत्या कर खुद को उड़ाया

0
33

रानीतालाब थाना अंतर्गत नहर मार्ग पर सैदाबाद गांव के निकट रविवार की सुबह चलती कार में सेना के एक जवान ने पत्नी और साली की गोली मारकर हत्या करने के बाद गोली से खुद को उड़ा लिया। पटना की ओर जा रहे कार के अंदर गोलियां तड़तड़ाने की आवाज सुनकर खेत में काम कर रहे मजदूर घटनास्थल पर पहुंचे और दो बच्चों व चालक को सुरक्षित बचा लिया। कार में दो महिलाओं और एक पुरु ष की खून सा सनी लाशें पड़ी थीं। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने खून से लथपथ तीनों शवों को बिक्रम पीएचसी ले गए, जहां चिकित्सक डॉ. सरफराज और डॉ. रशीद मलिक ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। डॉ. रशीद मलिक ने तीनों को एक-एक गोली लगने की बात कही। बताया जाता है कि सेना के जवान ने कार में सवार पत्नी और साली को गोलियों से छलनी कर खुद को उड़ा लिया। कार में सवार चालक और जवान के दो पुत्रों को ग्रामीणों ने सुरक्षित बचा लिया। मृतकों के परिजन ने बताया कि भोजपुर जिले में गड़हनी थाना के लालगंज गांव निवासी विष्णु शर्मा (35 वर्ष) नामक सेना का जवान गुजरात के भुज में पदस्थापित थे। 12 दिनों पूर्व अवकाश पर वे अपने घर आए थे। बीते 22 नवम्बर को साली के विवाह में वे भोजपुर जिला के तरारी गांव स्थित ससुराल गए थे। शादी के दिन ही उनकी तबियत खराब हो गई और चिकित्सक ने उन्हें डेंगू होने की संभावना जताई। रविवार को विष्णु शर्मा अपने ससुराल से कार से पटना एम्स में इलाज कराने के लिए निकले। कार में पत्नी दामिनी (32 वर्ष), साली खुशबू (22 वर्ष), विराट (8 वर्ष), वैभव (6वर्ष) नामक दो पुत्र एवं चालक के रूप में नजदीकी रिश्तेदार मिथिलेश ठाकुर उनके साथ थे। कार चालक मिथिलेश ठाकुर ने बताया कि घर से सभी लोग सामान्य निकले थे। एम्स जाने के क्रम में सैदाबाद गांव के समीप अचानक विष्णु ने पिस्तौल निकाला और किनारे बैठी साली पर गोली चला दी। ड्राइवर जब तक कुछ सोच पाता तब तक विष्णु ने ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी। यह देख कार रोककर ड्राइवर जैसे ही विष्णु की ओर लपका तो उसने उसे भी गोली मारने की धमकी दे डाली। पत्नी और साली को गोली मारने के बाद जवान ने खुद को गोली मार ली। इसी बीच आसपास के खेत में काम कर रहे लोग जुट गए और गाड़ी के अंदर से दोनों बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला। ग्रामीणों की सूचना पर रानीतालाब के थानाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह पुलिस बल के साथ घटनास्थल पहुंचे तथा आनन-फानन तीनों को बिक्रम स्वास्य केंद्र भिजवाया, जहां चिकित्सक ने सभी को मृत घोषित कर दिया। रानीतालाब थाना की पुलिस ने तीनों शवों को थाना में रखकर परिजन को घटना की सूचना दी । पालीगंज के डीएसपी मनोज कुमार पांडेय ने मृतक विष्णु शर्मा के ससुर सह मृतका दामिनी व खुशबू के पिता सुरेश शर्मा से पूछताछ के बाद बताया कि उनकी बड़ी बेटी की शादी 2012 में विष्णु से हुई थी। इधर, विष्णु की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। पिस्टल लेकर वे चले थे इसकी उन्हें जानकारी भी नहीं थी। छोटी पुत्री खुशबू की 22 नवम्बर को शादी हुई थी, जिसमें दामाद विष्णु उनके घर आये थे । डीएसपी मनोज पांडेय ने बताया कि एसएलएफ जांच के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा जा रहा है। ड्राइवर एवं मृतक के परिजनों से पूछताछ जारी है। प्रथम दृष्टया विष्णु शर्मा की मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण घटना को अंजाम की बात कही जा रही है। एसएलएफ टीम ने घटनास्थल से से कई नमूने लिए हैं। बहरहाल, पुलिस अनुसंधान के पश्चात ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी ।

यह भी पढ़े  अब अनुमंडलों व प्रखंडों में लगेगा कृषि यंत्रीकरण मेला : प्रेम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here