दुग्ध दिवस के रूप में मनायी गयी डॉ. वर्गीज कुरियन की जयंती

0
36

फुलवारीशरीफ स्थित पटना डेयरी प्रोजेक्ट में दुग्ध क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन का जन्मदिवस विश्व दुग्धदिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर अपने संबोधन में पटना डेयरी प्रोजेक्ट के प्रबंध निदेशक श्रीनारायण ठाकुर ने कहा कि दूध एवं दुग्ध से बने पदार्थो का हमारे जीवन में बड़ा महत्व है। बच्चा से लेकर बुजुर्ग लोगों के लिए यह सवरेत्तम आहार है। उन्होंने कहा कि ेत क्रांति के जनक डॉ. कुरियन के दुरगामी सोच के फलस्वरूप आज भारतवर्ष पूरे दुनिया का सबसे बड़ दुग्ध उत्पादक देश के रूप में जाना जाता है। समारोह में संघ के अध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि इससे बने उत्पादों को घर-घर तक उपलब्ध कराने पर जोर दिया। इससे ग्रामीण स्तर पर पशुपालकों को अधिक से अधिक लाभ प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि डॉ. कुरियन ने ेत क्रांति के अलावा खाद्य तेल एवं नमक उत्पाद में भी अपना योगदान दिया। डॉ. कुरियन पटना डेयरी प्रोजेक्ट के अध्यक्ष के रूप में वर्ष 1981 से 1987 तक कार्यरत थे। इस मौके पर डेयरी प्रोजेक्ट के पदाधिकारियों, कामता यादव आदि ने डॉ. कुरियन की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प दोहराया। कार्यक्रम में संघ के पदाधिकारी, कर्मचारी सहित बड़ी संख्या में दुग्ध उत्पादक किसान मौजूद थे।

यह भी पढ़े  जनादेश और संसद के फैसले का अपमान कर रहे तेजस्वी:उपमुख्यमंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here