संसद के शीतकालीन सत्र का पांचवा दिन :आज प्रदूषण समेत कई अमह मुद्दों पर होगी बहस

0
38

आज यानी शुक्रवार को संसद के शीतकालीन सत्र का पांचवा दिन है जिसमें कई अहम मुद्दों पर बहस की जाएगी. इनमें प्रदूषण का मुद्दा भी शामिल होगा. इससे पहले शीतकालीन सत्र का चौथा दिन भी काफी हंगामा भरा रहा. गुरुवार को लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान नारे लगाए गए और स्पीकर को गरिमा बनाए रखने के लिए हस्तक्षेप करने के लिए प्रेरित किया. वहीं स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा, सदन की गरिमा बनाए रखना हम सभी का कर्तव्य है. मैंने हमेशा बहस और चर्चा का मौता दिया है.

आज सदन में कई मुद्दों पर बहस हो होगी। लोकसभा में आज फिर से वायु प्रदूषण का मुद्दा गूंजने वाला है। इससे पहले शीतकालीन सत्र के चौथे दिन केंद्र सरकार ने बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर राज्यसभा में जवाब दिया। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा 122 शहर हैं जो एवरेज एयर क्वालिटी इंडेक्स में काफी आगे हैं। हमने इन शहरों में नेशनल क्वीन एयर प्रोग्राम शुरू किया है। जावड़ेकर ने कहा, ‘मैं उन सभी राज्यों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने पेड़ लगाने की दिशा में एक कदम उठाया है। इंडिया के ग्रीन कवर में पिछले पांच वर्षों में 13,000 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि हुई है।

यह भी पढ़े  जदयू के लिए फिर काम कर सकते प्रशांत किशोर!

सरकार ने गुरुवार को सरोगेसी (विनियमन) विधेयक 2019 को भी राज्यसभा की एक सेलेक्ट कमेटी को सौंप दिया। कमर्शियल सरोगेसी पर प्रतिबंध लगाने के इस विधेयक को मानसून सत्र में लोकसभा में पारित किया गया था। मंगलवार को उच्च सदन में इसे चर्चा के लिए लाया गया था। इसके कुछ प्रावधानों पर विपक्षी सांसदों की आपत्तियों के बाद सरकार ने इसे बुधवार को सेलेक्ट कमेटी को भेज दिया।
– तृणमूल कांग्रेस ने लोकसभा में श्रीनगर में जारी बंद को लेकर स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है।
– आप के सांसद संजय सिंह ने राज्यसभा में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के निजीकरण को लेकर शून्यकाल नोटिस दिया है।
– कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और भारतीय कम्युनिस्ट भार्टी के नेता केके रागेश ने राज्यसभा में जेएनयू में फीस वृद्धि को लेकर शून्य काल नोटिस दिया है।
– टीएमसी सांसद डोला सेन ने राज्यसभा में लाभ कमाने के लिए निजीकरण पर रोक को लेकर शून्यकाल नोटिस दिया है।
– बीजेपी सांसद हरनाथ सिंह यादव ने राज्यसभा में मिलावटी दूध से निपटने की मांग को लेकर शून्यकाल नोटिस दिया है।

यह भी पढ़े  बारिश से सुधरे किसानों के हालात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here