कांग्रेस को अपनी सोच से निकलने की जरूरत

0
68

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने मंगलवार को राज्यसभा में पेश किए गए जालियांवाला बाग नेशनल मेमोरियल संशोधन बिल 2019 का समर्थन किया। उन्होंने बिल के तीनों संशोधनों का समर्थन करते हुए कहा कि जालियांवाला बाग नेशनल मेमोरियल में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष का नाम क्यों रखे जाने के सवाल पर जदयू सांसद ने कहा कि यह स्वीकार करना पड़ेगा कि जो इंडियन नेशनल कांग्रेस 1919 में थी या जो 1951 में थी या जो अब 2019 में है वह एक इंडियन नेशनल कांग्रेस नहीं है। इस बात को अब स्वीकार करना पड़ेगा। श्री सिंह ने कहा कि 1919 में जो इंडियन नेशनल कांग्रेस थी वह सिर्फ एक राजनीतिक पार्टी नहीं थी। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व इंडियन नेशनल कांग्रेस कर रही थी। तब सभी विचारधारा के लोग जुड़े हुए थे। उसमें लोहिया भी जुड़े हुए थे। इसलिए इस मसले पर अधिक चिंता नहीं किए जाने की जरूरत है। अगर मेमोरियल से इंडियन नेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष का नाम हटाया जा रहा है, तो उसे किसी राजनीतिक एंगल से देखे जाने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस पर हमला करते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि भगत सिंह व उधम सिंह को भारत रत्न देने की बात अभी की जा रही है, इसमें किसी को एतराज नहीं होगा। उन्हें भारत रत्न काफी पहले मिलना चाहिए था। आपको जब मौका था, आप भुला दिए। आप ने सरदार पटेल को भुला दिया। मौलाना अबुल कलाम आजाद को भुला दिया। और तो और, बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर तक को आप भुला बैठे। जदयू सांसद ने कहा कि हमें अपने शहीदों को कभी नहीं भुलाना चाहिए।

यह भी पढ़े  स्कूली पाठय़क्रम में शामिल किया जायेगा कम्प्यूटर : मंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here