डेढ़ हजार से अधिक नए पदों का सृजन किया गया,कैबिनेट की बैठक में 10 एजेंडों पर मुहर

0
62

बिहार में डेढ़ हजार से अधिक नए पदों का सृजन किया गया है। ये पद माली से लेकर डाक्टर तक के हैं। पदों के सृजन पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी है। मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में कुल 10 एजेंडों पर मुहर लगी। 10 में से 4 प्रस्ताव स्वास्य विभाग से मिले। राज्य के कैबिनेट प्रधान सचिव डॉॅक्टर दीपक प्रसाद ने बताया कि एक हजार मालियों के पद सृजित किए गए हैं। मुख्यमंत्री आवास, मंत्री आवास से लेकर विभिन्न पाकरे में इनकी तैनाती होगी और ये पद स्थायी होंगे। स्वास्य विभाग के अन्तर्गत इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान, पटना के कुल सात अनुपयोगी पदों को प्रत्यर्पित करते हुए विभिन्न स्तर के चिकित्सीय, प्रशासनिक, तकनीकी एवं गैरतकनीकी स्तर के कुल 383 नए पदों के सृजन की स्वीकृति, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना के कार्डियोलॉजी तथा कार्डिएक कैथ लैब एवं कार्डियोथोरैसिक सर्जरी विभाग के लिए परयूजनिस्ट के कुल छह पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई। उन्होंने बताया कि पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अंतर्गत बिहार राज्य जैव विविधता परिषद, पटना के कार्यालय एवं क्षेत्रीय कायरे के संचालन के लिए विभिन्न कोटि के संविदा आधारित पदों के सृजन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। इसके साथ ही मधुबनी जिले के झंझारपुर प्रखंड में नवनिर्मित सामुदायिक स्वास्य केन्द्र, अररिया संग्राम को एल-तीन स्तरीय ट्रॉमा सेन्टर के रूप में विकसित करते हुए विभिन्न कोटि के कुल 73 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है। इसके अलावे सरकार ने पटना के अस्पताल के लिए 383 पदों के सृजन के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। डॉक्टर दीपक प्रसाद ने बताया कि पटना के अस्पताल में बेड की संख्या बढ़ाई जा रही है। यह अस्पताल 250 बेड का किया जाएगा। अस्पताल का नया बिल्डिंग बन चुका है। नवादा के खनवां सामुदायिक स्वास्य केंद्र के लिए 61 पदों का सृजन किया गया है। कैबिनेट ने जल संसाधन विभाग के अभियंता प्रमुख इंदु भूषण कुमार के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। अभियंता प्रमुख का एक्सटेंशन एक साल के लिए किया गया है। प्रधान सचिव ने बताया कि जल संसाधन विभाग के अन्तर्गत जल संसाधन विभाग के कायरे के निष्पादन में तकनीकी परामर्श के लिए अभियंता प्रमुख/मुख्य अभियंता के समकक्ष तकनीकी परामर्शी के गैर संवर्गीय पद का 1 जून 2019 से एक वर्ष के लिए अस्थायी रूप से पद सृजन एवं इन्दु भूषण कुमार, सेवानिवृत्त अभियंता प्रमुख, मुख्यालय, जल संसाधन विभाग, बिहार सम्प्रति तकनीकी परामर्शी, जल संसाधन विभाग, बिहार के तकनीकी परामर्शी के गैर संवर्गीय पद पर संविदा के आधार पर नियुक्ति को अतिरिक्त एक वर्ष के लिए अवधि विस्तार करने की स्वीकृति दी गई। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अन्तर्गत बिहार राज्य जैव विविधता पर्षद, पटना के कार्यालय एवं क्षेत्रीय कायरे के संचालन के लिए विभिन्न कोटि के कुल-09 संविदा आधारित पदों के सृजन के प्रस्ताव की स्वीकृति दी गई।भवन निर्माण विभाग के अन्तर्गत उद्यान प्रमंडल, पटना के कायरे के सम्यक एवं सुचारू संचालन के लिए तीस करोड़ छियासी लाख चालीस हजार रुपये की स्वीकृति दी गई।

यह भी पढ़े  मोदी सरकार ने दी मोटर वाहन (संशोधन) विधेयक को मंजूरी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here