कांग्रेस और एनसीपी से बात शुरू हुई ,देर रात उद्धव और अहमद पटेल के बीच हुई लंबी बातचीत

0
56

महाराष्ट्र में लगातार बदलते सियासी घटनाक्रम के बीच एक बड़ी खबर आ रही है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि राज्य में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच गठबंधन सरकार के लिए फॉर्मूला तैयार कर लिया गया है. बताया जा रहा है तीनों ही पार्टियों के बीच लगभग सभी मुद्दों पर चर्चा हो चुकी है लेकिन कुछ विषय है जिनपर चर्चा होना बाकि जिनमें धर्मनिरपेक्षता और कॉमन मिनिमम प्रोग्राम भी है.

खबर है कि शिवेसना और एनसीपी राज्य में 50-50 के फॉर्मूले के तहत काम करेगी. यानि शिवसेना एनसीपी के साथ उसी फॉर्मूले के तहत आगे बढ़ेगी जिसके पूरा ना होने पर उसने बीजेपी का दाम छोड़ा था. यानि राज्य में ढाई साल शिवसेना का सीएम रहेगा और ढाई साल एनसीपी का सीएम रहेगी. इस फॉर्मूले के तहत कांग्रेस पार्टी भी शिवसेना एनसीपी गठबंधन की सरकार में शामिल रहेगी.

जैसा कि पहले कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस शिवसेना की सरकार से दूरी बनाकर बाहर से समर्थन देगी, वैसा कुछ भी नहीं है. सूत्रों के हवाले से कांग्रेस को लेकर यह खबर आ रही है कि एनसीपी और शिवसेना का सीएम अगर ढाई ढाई साल के लिए होगा तो कांग्रेस का डिप्टी सीएम पूरे पांच साल के लिए होगा.

यह भी पढ़े  नीतीश कुमार का Blog: मैंने जो अटल जी से सीखा...

लेकिन अभी तक तीनों पार्टियों के बीच स्पीकर पोस्ट को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका है, इसीलिए पेंच वहीं फंसा है. ऐसा बताया जा रहा है कि अगले 8-10 में इसे लेकर भी फैसला हो सकता है और गठबंधन सरकार का आधिकारिक ऐलान अगले कुछ दिनों में होने की संभावना है.

कल महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन का लागू होने के बाद शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने कहा कि कल ही कांग्रेस और एनसीपी से बात शुरू हुई और दोनों पार्टियों ने हमसे वक्त मांगा। हम अलग विचारधारा के लोगों से बात कर रहे हैं इसलिए एक सहमति बनाने के लिए वक्त लगना स्वाभाविक है। उद्धव ने कहा राज्यपाल ने हमें ज्यादा वक्त नहीं दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी एक साथ बैठेगी, कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर चर्चा जारी है।

एक सवाल के जवाब में उद्धव ठाकरे ने कहा कि गठबंधन बीजेपी ने खत्म किया है, शिवसेना ने नहीं। बीजेपी ने हमसे ढाई साल के सीएम का वादा किया था। वहीं पार्टी की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने के जवाब में उद्धव ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट में नहीं गए हैें।

यह भी पढ़े  Patna Local Photo 19/05/2018

 सरकार बनाएंगे, धैर्य रखिए- उद्धव

मलाड के होटल रिट्रीट में शिवसेना विधायकों को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि विधायकों को राष्ट्रपति शासन की चिंता नहीं करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति शासन की वजह से सरकार बनाने में कोई दिक्कत नहीं होगी. उन्होंने कहा कि उनकी कांग्रेस और एनसीपी से बात चल रही है, और उन्हें धैर्य रखना चाहिए. उद्धव ने कहा कि महाराष्ट्र की सरकार पर शिवसेना का दावा कायम है. उद्धव ने कहा कि राष्ट्रपति शासन शिवसेना को राज्य में सरकार बनाने से नहीं रोक सकता है. उद्धव ने कहा कि अगले चार से पांच दिनों में वे राज्य के अकाल प्रभावित इलाकों के दौरे पर निकलेंगे. उन्होंने कहा कि सभी विधायक धैर्य रखें, इस मुद्दे को सुलझा लिया जाएगा और जल्द ही महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार बनाएगी.
इससे पहले मुंबई में कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं की बैठक हुई। इस बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में दोनों दलों की तरफ से प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की निंदा की गई। दोनों दलों ने कहा कि शिवसेना से बात हुई है लेकिन अभी तक हमने समर्थन का कोई आश्वासन नहीं दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here