कांग्रेस-NCP की बैठक में सरकार गठन पर नहीं हुआ कोई फैसला,दोनों पार्टी की आगे की रणनीति आगे तय की जाएगी

0
38

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद कांग्रेस-एनसीपी की साझा प्रेस कांफ्रेंस कर अपना बयान जारी किया. इस प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस नेता अहमद पटेल, एनसीपी नेता शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल मौजूद रहे. एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि दोनों पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं के बीच चर्चा हुई. 11 नवंबर को शिवसेना ने पहली बार हमसे संपर्क किया था. हम इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे और जल्द ही कोई फैसला लेंगे.

वहीं, कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि जिस तरीके से राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की गई है मैं उसकी आलोचना करता हूं. सुप्रीम कोर्ट की जो गाइडलाइन है, इस सरकार पिछले 5-7 साल में सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन नहीं मानी और मनमानी की है. मैं समझता हूं कि यह लोकतंत्र और संविधान का मजाक उड़ाने की कोशिश की गई है. उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने पहले बीजेपी, फिर शिवसेना और एनसीपी को सरकार बनाने का न्योता मिला, लेकिन कांग्रेस को सरकार बनाने का कोई न्योता नहीं मिला.

यह भी पढ़े  भारत ने पृथ्वी-टू मिसाइल का सफल परीक्षण किया, 300 किमी की दूरी तक मार करने में सक्षम

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने को लेकर आज मुंबई में कांग्रेस-एनसीपी की बैठक में फैसला नहीं हुआ. प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि बातचीत आगे भी जारी रहेगी. वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि राष्ट्रपति शासन लगाया जाना गलत है. बैठक में शरद पवार के साथ कांग्रेस महासचिव मल्लिकार्जुन खड़गे, के सी वेणुगोपाल और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here