बिहार में एक साथ 45 पुलिसवाले घूस लेने के आरोप में निलंबित, CCTV फुटेज से हुआ पर्दाफाश

0
49

राजधानी पटना में घूस लेकर महात्मा गांधी सेतु पर भारी वाहन ख़ासकर ओवरलोडेड ट्रक को पार करने के आरोप में एक साथ 45 पुलिस वालों को निलंबित कर दिया गया हैं. 

ट्रक माफियाओं से सांठगांठ कर प्रतिबंध के बावजूद महात्मा गांधी सेतु से बालू, पत्थर, गिट्टी और निर्माण सामग्री लदे ट्रकों को नजराना वसूल कर आवाजाही की अनुमति देने के आरोप में 13 पुलिस अधिकारियों समेत 45 जवानों को निलंबित कर दिया गया।ट्रैफिक एसपी अमरकेश दारपीनेनी ने वसूली के इस धंधे को उजागर किया और सेतु पर तैनात 13 पुलिस अधिकारियों समेत जीरो माइल और धनुकी मोड़ पर तैनात कुल 45 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। इनपर प्राथमिकी दर्ज करने का भी निर्देश भी दिया गया है। उन लोगों के विरुद्ध विभागीय जांच भी शुरू कर दी गयी है। ट्रैफिक एसपी अमरकेश डी के मुताबिक जिन 45 पुलिसकर्मियों के खिलाफ निलंबन और प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया गया है, उनमें छह दारोगा, सात जमादार और 32 जवान शामिल हैं। इनमें दो सब इंस्पेक्टर (दारोगा), दो एएसआई (जमादार) और दो जवान जीरो माइल ट्रैफिक थाने में तैनात हैं। सभी की तीन शिफ्ट में आठ आठ घंटे की डय़ूटी लगी हुई थी। पुलिस की मानें, तो यह खेल विगत तीन महीने से चल रहा था। इन लोगों की सांठगांठ ट्रक माफियाओं से थी। पुलिस के मुताबिक वर्ष 2018 में महात्मा गांधी सेतु की स्थिति को देखते हुए भारी मालवाहक, छह चक्कों वाले ट्रक और उन पर लदी भवन निर्माण सामग्री को ले जाने पर पूरी तरह से रोक लगी थी। बावजूद इसके नजराना वसूली के बल पर ट्रकों की आवाजाही का खेल बेरोक-टोक चल रहा था। इन सभी पुलिसकर्मियों पर प्रतिदिन 500 रुपये की वसूली कर 100 से 200 तक ट्रकों को गांधी सेतु से पार कराने का आरोप है। बताया गया है कि पुलिस के इस कारनामे को एक कारोबारी ने उजागर किया। उसने वसूली की वीडियो क्लिप बनाकर बड़े पुलिस अधिकारियों को भेजा, जिससे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। ट्रैफिक एसपी ने विशेष टीम का गठन कर पूरे मामले पर नजर रखी। बकायदा उसकी जांच कराकर रिपोर्ट आने के बाद 45 पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की गयी। पुलिस के मुताबिक, आरोपित पुलिसकर्मियों को जहां तैनात किया गया था, वे आलमगंज और अगमकुआं थाना क्षेत्र में पड़ते हैं। इसलिए दोषियों पर दोनों थाने में मामला दर्ज कराया जाएगा।

यह भी पढ़े  पप्पू-रंजीत जन आहार कैंटीन शुरू

पुलिस विभाग के एक अनुमान के अनुसार भारी ट्रक को पास कराने के इस खेल में हर दिन लाखों की कमाई होती थी. जो पुलिस वाले आपस में बांट लेते थे. ये एक इस कारण था कि यहां जाम की समस्या हमेशा बरक़रार रहती थी. फ़िलहाल इस कारवाई के बाद उम्मीद की जा रही हैं कि अब कुछ समय के लिए जाम की समस्या ख़त्म होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here