आगामी चुनाव में शिक्षा और स्वास्य होगा महत्वपूर्ण मुद्दा

0
141
Patna-Oct.29,2019-A view of seminar on “Education & Health” with political parties leaders at Hotel Chanakya in Patna, organized by Oxfam India.

राजधानी के होटल चाणक्या में मंगलवार को ऑक्सफेम इंडिया और नागर समाज की ओर से एक-दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसका विषय था राजनैतिक दलों से परिर्चचा-‘‘ शिक्षा और स्वास्य – चुनौतियां और संभावनाएं’। विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने ‘‘शिक्षा और स्वास्य’ को आगामी चुनाव में एक महत्वपूर्ण मुद्दा बनाने की बात की,जिससे जनता को इन क्षेत्रों में बेहतर सुविधाएं मिल सके। साथ ही साथ जनता को शिक्षा और स्वास्य से जुड़े उनके अधिकारों के बारे में जागरूक किया जा सके। जिसमें जनता दल यूनाइटेड के विधायक ललन पासवान, राजद विधायक रामानुज प्रसाद तथा निराला यादव , आप से उमा दफ्तुवार, कांग्रेस से मंजीत साहू, माले से कुमार परवेज , भाजपा के डॉक्टर अशोक कुमार सिन्हा , सी पी आई से रवींद्र नाथ रय इत्यादि ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर बड़ी संख्या में विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों सहित मिडिया के लोगों ने शिरकत की। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता ऑक्सफेम इंडिया के प्रत्युष प्रकाश ने की। इस अवसर पर चार्म संस्था के निदेशक डॉ शकील उर रहमान ने स्वास्य से जुड़ी विभिन्न जानकारियां दीं। उन्होंने बिहार जन स्वास्य अभियान की रिपोर्ट के बारे में र्चचा करते हुए कहा की राज्य में आज भी बुनियादी स्वास्य सुविधाओं की कमी तथा उक्त क्षेत्र में पर्याप्त स्वास्य कर्मियों तक के अभाव से लोगों को स्वास्य सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं, साथ ही उन्होंने राज्य में स्वास्य और शिक्षा के क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों को बताने के लिए निति आयोग तथा स्वास्य विभाग के द्वारा बनाई गयी स्वास्य इंडेक्स रिपोर्ट 2018 का जिक्र किया। जनता दल यूनाइटेड के ललन पासवान ने शिक्षा तथा स्वास्य के क्षेत्र में आने वाली लगातार चुनौतियों के बारे में बताते हुए कहा कि इसके लिए सिर्फ राजनीतिक दल जिम्मेदार हैं जो सिर्फ जात-पात का नेतृत्व करते हैं उन्हें जनता की वास्तविक समस्याएं नहीं दिखतीं जिसके अभाव में एक स्वस्थ लोकतंत्र की परिकल्पना नहीं की जा सकती है। वहीं भाजपा के डॉ अशोक कुमार सिन्हा ने कहा की समाज को व्यक्ति संचालित करता है जबकि व्यक्ति को समाज के द्वारा संचालित किये जाने की आवश्यकता है तभी हम एक बेहतर समाज और स्वस्थ लोकतंत्र देख पाएंगे। राजद विधायक डॉ रामानुज प्रसाद ने नीति आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बिहार में स्वास्य की वर्तमान स्थिति पर चिंता जाहिर की और कहा कि बिहार दूसरे प्रदेश के साथ-साथ हमारे पड़ोसी देशों की तुलना में भी शिक्षा और स्वास्य के मामलों में निचले पायदान पर है। आम आदमी पार्टी की महिला प्रदेश अध्यक्ष उमा दफ्तुवार ने आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किये गए सराहनीय प्रयासों का जिक्र किया जिसकी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त हुई है। पार्टी से राज्य में शिक्षा और स्वास्य के क्षेत्र में बदहाली और दयनीय स्थिति के बारे में बात करते हुए कहा की हम अपनी कार्यपद्धति, अपने विचार को बदल कर इस क्षेत्र में सुधार कर सकते हैं। कांग्रेस के मंजीत साहू ,माले के कुमार परवेज तथा सी पी आई से रवींद्र नाथ रय आदि ने सरकार द्वारा शिक्षा और स्वास्य पर किए जा रहे खर्च में बढ़ोतरी की वकालत की तथा इसके कार्यान्वयन में सुधार की आवश्यक पर बल दिया।

यह भी पढ़े  'दो नावों की सवारी' ठीक नहीं :लोजपा नेता चिराग पासवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here