मारा गया मोस्ट वांटेड आतंकी बगदादी! उत्तर पश्चिमी सीरिया में अमेरिकी सेना ने बनाया टारगेट, ट्रंप का ऐलान- कुछ बहुत बड़ा हुआ है

0
101

अमेरिकी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, शनिवार को उत्तर पश्चिमी सीरिया में एक रेड की गई, जिसमें अमेरिकी सेना ने ISIS प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी को निशाना बनाया। अधिकारी ने कहा कि CIA ने ISIS प्रमुख का पता लगाने में सहायता की। वहीं, कुछ अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि मोस्ट वांटेड आतंकवादी अबू बक्र अल-बगदादी सीरिया में अमेरिकी सैनिकों द्वारा की गई विशेष रेड में मारा गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, ISIS प्रमुख की हत्या करने वाली रेड को कथित तौर पर शनिवार को आयोजित किया गया। अमेरिकी सेना के अधिकारियों ने न्यूजवीक को बताया कि बगदादी सीरिया के इदलिब प्रांत में किए गए एक शीर्ष-गुप्त रेड का लक्ष्य था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अधिकारी ने यह भी कहा कि रेड में बगदादी मारा गया।

पेंटागन के एक अन्य सूत्र ने अमेरिकी साप्ताहिक को बताया कि विभाग को “हाई कॉन्फिडेंस” है कि रेड के दौरान मारा गया “हाई वैल्यू” टारगेट वास्तव में बगदादी था। हालांकि, अभी इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन, ये खबर आने से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट करके कहा था कि “कुछ बहुत बड़ा हुआ है।”

यह भी पढ़े  बेरोजगारी हटाओ यात्रा:जेडीयू के विधायक और पार्षद ने अपनी ही सरकार को घेरा

व्हाइट हाउस के उप प्रेस सचिव होगन गिडले ने कहा, ‘‘अमेरिका के राष्ट्रपति रविवार को (स्थानीय समयानुसार) सुबह नौ बजे कोई बड़ा बयान देंगे।’’ शनिवार शाम ट्रंप ने ट्वीट कर लिखा, “अभी कुछ बहुत बड़ा हुआ है।” इस ट्वीट के बाद ही व्हाइट हाउस ने यह खबर दी।

सीरिया में बना निशाना

अमेरिकी मीडिया के मुताबिक, शनिवार को उत्तर-पश्चिम सीरिया में अमेरिकी सेना ने ISIS के सरगना अबु बकर अल-बगदादी को निशाना बनाया है. अमेरिका के रक्षा अधिकारियों ने बताया है कि बगदादी को CIA की मदद से तलाशा गया था, जिसके बाद उसके ऑपरेशन चलाया गया और बगदादी को निशाना बनाया गया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ट्रंप रविवार सुबह 9 बजे इस संबंध में बड़ा ऐलान कर सकते हैं.

बता दें, यूं तो कई बार बगदादी की मौत की रिपोर्ट्स आती रही हैं. लेकिन इस बार जब ये जानकारी सामने आई है तो अमेरिका के राष्ट्रपति ने खुद कहा है कि कुछ बहुत बड़ा हुआ है.

यह भी पढ़े  बीजेपी ने जेडीयू को दिया सीटों का नया फॉर्मूला, 50-50 फीसदी सीटों पर चुनाव लड़ सकते हैं दोनों दल!

पांच सालों से छिपा हुआ था बगदादी

अबु बकर अल-बगदादी पिछले पांच सालों से छिपा हुआ था. दुनिया को बगदादी का पता सबसे पहले जुलाई 2014 में तब चला था, जब उसका मोसुल की मस्जिद का एक वीडियो सामने आया था. इसके बाद कई बार बगदादी की मौत के दावे भी होते रहे. फरवरी 2018 में अमेरिका के अधिकारियों ने बताया था कि मई 2017 में हुए हवाई हमले में बगदादी जख्मी हो गया है.

इस तरह की तमाम जानकारियां आती रही हैं, लेकिन कभी कोई पुख्ता सबूत बगदादी की मौत का सामने नहीं आया है. ऐसे में अब ट्रंप का यह बयान कि कुछ बहुत बड़ा हुआ है, जरूर इस ओर इशारा कर रहा है कि क्या अमेरिकी सेना बगदादी को मारने में कामयाब हो गई है? ट्रप के ऐलान के बाद ही ये तस्वीर पूरी तरह साफ हो पाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here