पटना में बाढ़ और जलजमाव मामले में पटना हाईकोर्ट में आज सुनवाई

0
208

पटना में हुए जलजमाव को लेकर हाइकोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई करेगा. कोर्ट  के निर्देश दिये जाने के बावजूद जल निकासी की उचित व्यवस्था नहीं करने पर  कोर्ट की ओर से कार्रवाई हो सकती है. जानकारी के अनुसार न्यायालय अवमानना  का मामला भी दोषी अफसरों पर दर्ज किया जा सकता है. गौरतलब है कि इस मामले  में बुधवार को ही सुनवाई होनी थी, लेकिन महाधिवक्ता ललित किशोर को अदालत  में उपस्थित नहीं रहने के कारण सुनवाई नहीं हो सकी थी.

भारी बारिश के चलते राजधानी पटना में बाढ़ और जलजमाव मामले में पटना हाईकोर्ट में आज यानी शुक्रवार को सुनवाई होगी. जस्टिस एस पांडेय की खंडपीठ नवीन कुमार सिंह और अन्य की जनहित याचिकाओं पर यह सुनवाई करेगी. इसी मामले में 16 अक्टूबर को सुनवाई में हाईकोर्ट ने पूरी स्थिति को गंभीरता से लेते हुए स्पष्ट किया था कि पटना और उसके नागरिकों को इस स्थिति में लाने वाले जिम्मेदार लोगों को किसी भी हालत में नहीं बख्शा जाएगा.

यह भी पढ़े  बिहार में 3 सदस्यीय समिति करेगी बीजेपी उम्मीदवारों का चयन

हाईकोर्ट ने पूछा- पटना में जलजमाव क्यों?
बता दें कि 16 अक्टूबर को हुई सुनवाई में कोर्ट ने राज्य सरकार के अधिकारियों के ट्रांसफर और सस्पेंड करने की नीति पर भी सख़्त नाराजगी जाहिर की थी. कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि ड्रेनेज सिस्टम के ध्वस्त होने और उससे होने वाले भयानक जलजमाव के कारणों की जांच के लिए कमिटी करेगी. इसमें एक्सपर्ट भी होंगे. इसके जिम्मेदार अधिकारियों को इसका जवाब देना होगा.

गौरतलब है कि योजनाओं को सही तरीके से नहीं लागू नहीं करने वित्तीय अनियमिततओं बरतने वालों के विरुद्ध भी पटना हाईकोर्ट ने कार्रवाई के संकेत दिये थे. शुक्रवार को हाईकोर्ट इस मामले में क्या आदेश देता है, ये देखना काफी महत्त्वपूर्ण होगा.

1997 और 2012 में कोर्ट ने दिया था आदेश
बता दें कि इससे पहले वर्ष 1997 में भी एक हफ्ते तक लगातार बारिश होने से लगभग पूरा पटना जलमग्न हो गया था. तब कोर्ट ने जनहित याचिका पर राज्य सरकार, पटना नगर निगम को सभी बड़े नालों से अतिक्रमण हटाने, उसकी सफाई और बेकार पड़े संप हाउसों को दुरुस्त करने का आदेश दिया था.

यह भी पढ़े  अगले दो दिनों तक ऑरेंज अलर्ट, डीएम ने दिए सरकारी-प्राइवेट स्कूल और कोचिंग बंद करने के निर्देश

इसके बाद वर्ष 2012 में भी एक जनहित याचिका दायर की गई थी. अगस्त 2014 में पटना में खूब बारिश हुई तो हफ्ते भर तक शहर जलमग्न रहा था. इसपर कोर्ट ने कहा था कि 24 घंटे से अधिक जलजमाव रहा तो यह कोर्ट की अवमानना होगी. निगम के अफसर इसके लिए जिम्मेदार होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here