तेजी से हो रहा डेंगू का फैलाव सोमवार को 116 नये मरीज मिले

0
218

डेंगू के डंक का फैलाव तेजी से बढ़ता जा रहा है। सोमवार को डेंगू के 116 कंफर्म मरीज मिले, उनमें पटना के 112 मरीज हैं। सोमवार को पीएमसीएच के वायरोलॉजिकल लैब में 294 सैंपल की जांच की गई। उनमें 116 कंफर्म मरीज मिले। पटना के नये-नये इलाकों में डेंगू फैलने के कारण यहां के मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। सोमवार को भी 116 मरीजों में से 112 मरीज पटना के मिले। अब तक डेंगू के कंफर्म मरीजों की संख्या 1311 तक पहुंच गई है। वहीं, चिकनगुनिया के 27 और जेई के भी 47 कंफर्म मरीज मिल चुके हैं। पीएमसीएच में डेंगू के दस नये मरीज भर्ती किये गयेडेंगू के फैलाव को देखते हुए पीएमसीएच में डेंगू के मरीजों के लिए कुल 75 बेड रखे गये हैं। सोमवार को डेंगू वार्ड में दस नये मरीज भर्ती हुए। फिलहाल वहां पेडियाट्रिक, आईसीयू, सेंट्रल इमरजेंसी और डेंगू वार्ड में कुल 75 बेड का इंतजाम किया गया है, जहां कुल 38 मरीज इलाज के लिए भर्ती हैं। अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि अब तक 107 मरीज डेंगू के इलाज के लिए भर्ती किये जा चुके हैं। उनमें से दस मरीजों को प्लेटलेट्स चढ़ाये गए। इलाज के बाद भर्ती मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज होते जा रहे हैं। हालांकि नये मरीज वहां रोज भर्ती हो रहे हैं। डॉ. प्रसाद ने कहा कि पीएमसीएच में डेंगू के कारण अभी तक किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। इलाज और दवाओं सहित सभी सुविधाओं का मुकम्मल इंतजाम किया गया है ताकि मरीज जल्द स्वस्थ होकर अपने घर जा सकें।
पटना सिटी (एसएनबी)। एनएमसीएच में सोमवार को डेंगू के 106 मरीजों के सैंपल की जांच की गयी। जांच में 35 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई। माइक्रोवायोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. हीरालाल महतो ने बताया कि चिकिनगुनिया के 13 मरीजों के सैंपल की जांच किया गया, लेकिन किसी भी मरीज में चिकिनगुनिया की पुष्टि नहीं हुई। अस्पताल के मेडीसीन विभाग में डेंगू के एक दर्जन मरीजों का इलाज चल रहा है। भर्ती मरीजों में 8 महिला और 4 पुरु ष हैं। साथ ही, एक चिकिनगुनिया के पुरु ष मरीज भी भर्ती हैं। विभागाध्यक्ष डॉ. उमाशंकर प्रसाद ने बताया कि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बेड की संख्या बढ़ाकर 20 कर दी गयी है। डी वार्ड में 10 बेड पुरु ष के लिए और ई वार्ड में महिलाओं के लिए 10 बेड आरक्षित किया गया है। आवश्कता पड़ने पर और बेड बढ़ाया जायेगा। भर्ती मरीजों को मच्छरदानी में रखकर दवा सहित अन्य सुविधा मुहैया करायी जा रही है। खासतौर पर प्लेटलेट्स की जांच की व्यवस्था की गयी है।
स्वास्य विभाग डेंगू की रोकथाम और इलाज के लिए प्रयासरत है। इसके तहत दवाओं की उपलब्धता, छिड़काव और रक्त एवं प्लेटलेट्स की उपलब्धता के लिए कैंप लगाए जा रहे हैं। पटना के सिविल सर्जन द्वारा सोलह चिकित्सकों एवं कर्मियों को प्रतिनियुक्त कर पटना शहर के सभी छह अंचलों-पटना सिटी, पटना सदर, बाढ़, मसौढ़ी, दानापुर एवं पाटलिपुत्र में टैमिफॉस का छिड़काव कराया जा रहा है। सोमवार से कुल छिड़काव दलों की संख्या को 75 कर दिया गया है।503 यूनिट रक्त का संग्रह हुआरक्त एवं प्लेटलेट्स की उपलब्धता के लिए 10 अक्टूबर से 14 अक्टूबर तक कुल 19 रक्तदान शिविरों के माध्यम से 503 यूनिट ब्लड विभिन्न रक्त अधिकोषों में संग्रह किया गया है। सोमवार को विभिन्न रक्त ग्रुप के 539 यूनिट प्लेटलेट्स स्टोर में उपलब्ध थे।

यह भी पढ़े  अच्छी बात है, उन्हें जाने दीजिये:राम विलास पासवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here