पटना मेट्रो के लिए हुआ करार,पूर्वी-पश्चिमी कॉरिडोर तीन एलिवेटेड, आठ अंडर ग्राउंड स्टेशन

0
88

राजधानी पटना में मेट्रो रेल परियोजना के लिए बुधवार को पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (पीएमआरसीएल) और दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के बीच एकरारनामे पर हस्ताक्षर किये गये। एकरारनामे के अनुसार सितम्बर 2024 तक पटना मेट्रो के दोनों कॉरिडोर का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। पहला कॉरिडोर सगुना मोड़ से तथा दूसरा कॉरिडोर रेलवे स्टेशन से शुरू होगा। परियोजना पर कुल 13365.77 करोड़ रुपये की लागत आयेगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपस्थिति में बुधवार को नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद एवं दिल्ली मेट्रो रेल के प्रबंध निदेशक मंगू सिंह के बीच एकरारनामे का आदान-प्रदान किया गया। एकरारनामे के बाद जल्द ही पटना मेट्रो के दोनों कॉरिडोर के निर्माण की प्रक्रिया डीएमआरसी शुरू कर देगा। इस परियोजना के तहत पूर्वी-पश्चिमी कॉरिडोर (16.94 किलोमीटर) एवं उत्तरी-दक्षिणी कॉरिडोर (14.45 किलोमीटर) हैं। पूर्वी-पश्चिमी कॉरिडोर में तीन एलिवेटेड स्टेशन, आठ अंडर ग्राउंड स्टेशन तथा एक एट ग्रेड स्टेशन शामिल हैं। वहीं उत्तरी-दक्षिणी कॉरिडोर में नौ एलिवेटेड स्टेशन एवं तीन अंडर ग्राउन्ड स्टेशन शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि पटना मेट्रो रेल परियोजना का कार्यान्वयन डिपोजिट टर्म पर नॉमिनेशन के आधार पर डीएमआरसी से कराने की स्वीकृति राज्य मंत्रिपरिषद ने तीन सितम्बर की बैठक में प्रदान की थी। पटना मेट्रो परियोजना के कार्यान्वयन के लिए मेट्रो निर्माण में देश की सबसे पुरानी एवं विश्वसनीय डीएमआरसी को चुना गया है। डीएमआरसी के पास स्थायी तकनीकी मानव बल उपलब्ध है, जिसे देश के कई शहरों (नई दिल्ली, नोएडा, जयपुर, कोच्चि एवं मुंबई) तथा विदेश (बांग्लादेश) में मेट्रो रेल परियोजनाओं के कार्यान्वयन का बड़ा अनुभव है। पटना मेट्रो रेल की सम्पूर्ण परियोजना के कार्यान्वयन का कार्य डीएमआरसी द्वारा अबतक देश एवं विदेश में किये गये कायरे से कम दर पर किया जा रहा है। इस परियोजना से पटनावासियों एवं आगंतुकों को दुरंत, विश्वसनीय, सुरक्षित एवं आरामदायक यातायात का माध्यम प्राप्त होगा। यह पर्यावरण पोषक परियोजना होगी, जिसमें मेट्रो स्टेशन एवं डिपो को हरित भवन के रूप में योजनाबद्ध कर सौर पैनल से पूरी तरह आच्छादित किया जाएगा। यह सर्वोच्च उपयोगी हरित यातायात का माध्यम होगा, जो शहर के सघन क्षेत्रों में यातायात को सुगम बनायेगा। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक मंगू सिंह और पीएमआरसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक चैतन्य प्रसाद समेत अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  ‘प्रोफेसर पर हमला करने वालों की गिरफ्तारी हो :राजद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here