सांसद चिराग पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्य़क्ष होंगे

0
257

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के बेटे और जमुई से सांसद चिराग पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्य़क्ष होंगे. 28 नवंबर को पटना के गांधी मैदान में रामविलास पासवान चिराग पासवान को लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपेंगे, हालांकि रामविलास पासवान खुद केंद्र सरकार में मंत्री बने रहेंगे. रामविलास पासवान ने 2014 लोकसभा चुनाव से पहले चिराग को लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी थी इसके पांच साल बाद अब उन्हें नेतृत्व सौंपा जा रहा है.

19 के चुनाव में लीड कर रहे थे चिराग

इस साल हुए लोकसभा चुनाव में भी सीटों के बंटवारे और उम्मीदवारों के चयन में चिराग की अहम भूमिका रही थी. दिल्ली में चिराग की ताजपोशी का ऐलान करते हुए रामविलास पासवान ने कहा कि हम चाहते हैं कि अगली पीढ़ी अपना काम संभाले. पासवान ने कहा कि इसी साल 28 नवंबर को पार्टी की स्थापना दिवस कार्यक्रम के मौक़े पर पटना में इस बात का औपचारिक एलान होगा.

यह भी पढ़े  पटना एम्स में भर्ती मरीजों को कम कीमत में मिलेंगी दवाएं

फिल्म से राजनीति का रूख

चिराग ने पहली फिल्म में नाकामी के बाद राजनीति का रूख किया था. इससे पहले 4 नवंबर 2011 को उनकी फिल्म ‘मिले ना मिले हम’ फिल्म रिलीज़ हुई थी. 2013 में चिराग पासवान फिल्मी दुनिया छोड़ कर राजनीति में सक्रिय हुए थे. तब चिराग ने आरजेडी-एलजेपी गठबंधन के लोकसभा उपचुनाव के उम्मीदवार प्रभुनाथ सिंह के लिए चुनाव-प्रचार किया था.

संसदीय दल की संभाल रहे थे कमान

चिराग पासवान रामविलास पासवान के इकलौते बेटे हैं. वो लोजपा संसदीय दल के भी अध्यक्ष हैं. 2019 में उन्होंने बिहार की जमुई सीट से दोबारा जीत हासिल की है. इस बार उनका मुकाबला रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी से था जिनको हराने में वो सफल रहे थे. बीजेपी के साथ सीटों के तालमेल में भी चिराग की अहम भूमिका रही थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here