VHP के नए अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बने विष्‍णु सदाशिव कोकजे, तोगड़िया का पत्ता साफ

0
78

विश्‍व हिंदू परिषद के 52 साल के इतिहास में पहली बार अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के लिए हुए चुनाव में विष्‍णु सदाशिव कोकजे ने जीत हासिल कर ली है. हिंदुत्व का बड़ा चेहरा रहे प्रवीण तोगड़िया के नजदीकी राघव रेड्डी के खिलाफ चुनाव लड़ते हुए कोकजे ने बड़ी जीत हासिल की है. चुनाव में 192 वोट डाले गए, जिसमें से 131वोट विष्‍णु सदाशिव कोकजे  और 60 वोट राघव रेड्डी को मिले. इस जीत के बाद अब कुछ देर में ही पता चलेगा कि प्रवीण तोगड़िया अंतरराष्‍ट्रीय कार्याध्‍यक्ष रहेंंगे या नहीं.

विष्णु सदाशिव कोकजे हिमाचल प्रदेश के पूर्व गवर्नर एवं मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के पूर्व जज रह चुके हैं.चुनाव से पहले तोगड़िया कैंप की ओर से आरोप लगाया जा रहा है कि कोकजे का हिंदुत्व से कोई लेना-देना नहीं है.कोकजे का जन्म 6 सितंबर 1939 को  मध्य प्रदेश में हुआ था. इंदौर से LLB करने के बाद 1964 में उन्होंने लॉ की प्रैक्टिस शुरू की. यह संयोग ही है कि इसी साल विश्व हिंदू परिषद की स्थापना हुई.

यह भी पढ़े  अमित शाह आज करेंगे जनसम्पर्क अभियान की शुरूआत, करेंगे पूर्व आर्मी चीफ और संविधान विशेषज्ञ से मुलाकात
file photo

विश्‍व हिंदू परिषद के 52 साल के इतिहास में पहली बार अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के लिए हुए चुनाव के साथ ही तोगड़िया युग का अंत हो गया. प्रवीण तोगड़िया की जगह आलोक कुमार लेंगे. आलोक कुमार पेशे से एडवोकेट हैं. आलोक कुमार आरएसएस में दिल्‍ली प्रांत के सहसंघ चालक हैं. इससे पहले विष्‍णु सदाशिव कोकजे को संघ का नया  अंतरराष्‍ट्रीय अक्षय चुन लिया गया है.

विश्‍व हिंदू पिरषद के अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के लिए शनिवार को गुरग्राम में चुनाव कराया गया था. चुनाव में हिंदुत्व का बड़ा चेहरा रहे प्रवीण तोगड़िया के नजदीकी राघव रेड्डी के खिलाफ चुनाव लड़ते हुए कोकजे ने बड़ी जीत हासिल की है. इस जीत के साथ ही कयास लगाए जाने लगे थे कि प्रवीण तोगड़िया को विश्‍व हिंदू परिषद से बाहर का रास्‍ता दिखाया जा सकता है. चुनाव के कुछ देर बाद ही आलोक कुमार को अंतरराष्‍ट्रीय कार्यकारी अध्‍यक्ष नियुक्‍त कर लिया गया. अशोक राव चौगुले को कार्याध्यक्ष विदेश विभाग, मिलिंद परांडे को महामंत्री, विनायक राव देशपाण्डे को संगठन महामंत्री, चम्पत राय को उपाध्यक्ष, कोटेश्वर राव को सयुंक्त महामंत्री और डॉ सुरेन्द्र जैन को संयुक्त महामंत्री चुना गया है.

यह भी पढ़े  लालू ने पूछा- नीतीश बताएं क्यों नहीं मिला विशेष राज्य का दर्जा, जदयू ने किया पलटवार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here