SIS बिहार की इकलौती मल्टीनेशनल कंपनी बनी, 6 हजार करोड़ का टर्नओवर हुआ

0
108

पटना. एसआईएस, इकलौती बिहारी मल्टीनेशनल कंपनी बन चुकी है। एकमात्र ऐसी पब्लिक लिस्टेड कंपनी, जिसका रजिस्टर्ड हेड ऑफिस पटना में है। पटना से शुरू हुआ एसआईएस का टर्नओवर 6 हजार करोड़ रुपए हो चुका है। मार्केट कैपिटल साढ़े 8 से 9 हजार करोड़ बन चुका है। पिछले वर्ष ‘फोर्ब्स’ पत्रिका द्वारा जारी विलिनियर की लिस्ट में भारत के इकलौते प्रतिनिधि के रूप में एसआईएस के चेयरमैन आरके सिन्हा को शामिल किया गया था। गुरुवार को एसआईएस के ग्रुप एमडी रितुराज सिन्हा ने इन बातों की जानकारी संवाददाताओं को दी।

देश के 1.70 लाख लोगों को रोजगार

– उन्होंने कहा कि कंपनी ने विदेशों तक साख बनाई है। बीते फरवरी में ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवैल्थ गेम्स की सुरक्षा एसआईएस की सहायक कंपनी ने सफलतापूर्वक संभाली थी। इसके लिए कंपनी के 2 हजार कर्मियों ने 18 महीने पहले ही तैयारी शुरू कर दी थी। उनके अनुसार 1974 में स्थापित एसआईएस अपने सिद्धांत (युवाओं को स्थायी रोजगार की ओर लाना आैर देश की सुरक्षा व प्रगति में योगदान देना) के साथ आगे बढ़ रही है।

यह भी पढ़े  वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने कहा- विकास दर में इस साल चीन को पीछे छोड़ देगा भारत

– कंपनी से देश के 1.70 लाख लोगों को रोजगार मिल रहा है। इनमें 32 हजार बिहारी हैं। पिछले वर्ष ही 15 हजार से अधिक लोगों को स्थायी रोजगार मिले हैं। कंपनी की ट्रेनिंग सेंटर से 5 लाख से अधिक लोग ट्रेंड हो चुके हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में रवि अटल उपस्थित थे।

कैश लॉजिस्टिक में कंपनी

एसआईएस की वार्षिक आमसभा के बाद मीडिया से मुखातिब ग्रुप एमडी ने कहा कि कंपनी ने सुरक्षा के अलावा कैश लॉजिस्टिक व फैसिलिटी मैनेजमेंट में भी बड़ी पहल की है। देश से सबसे साफ-सुथरे 10 स्टेशनों में एसआईएस द्वारा सफाई-मेंटेन किए जा रहे तीन स्टेशन कोटा, बड़ौदा व भुवनेश्वर का नाम आया है। कैश लॉजिस्टिक में देश के 600 जिलों में कंपनी की 2500 वैन चल रही है।

ट्रेनिंग दे रहा एसआईएस

एसआईएस के चेयरमैन आरके सिन्हा ने कहा कि कंपनी द्वारा युवाओं को कौशल विकास की भी ट्रेनिंग दी जा रही है। इसके तहत ड्राइविंग, सीसीटीवी सेटिंग, डॉग हैंडलर, बागवानी आदि की ट्रेनिंग देकर बेरोजगारों को हुनरमंद बनाया जा रहा है। पिछले वर्ष कंपनी के 19 ट्रेनिंग सेंटर के जरिए 22 हजार युवाओं को कौशल विकास की ट्रेनिंग दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here