Rajasthan Assembly Elections 2018: सुबह 11 बजे तक 21.89% मतदान

0
13

राजस्थान की 200 में से 199 विधानसभा सीटों के लिए आज सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। अलवर में रामगढ़ विधानसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी के निधन के बाद यहां चुनाव स्थगित किया गया है। निर्वाचन विभाग ने इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे इस राज्य में सुरक्षा चाक चौबंद है। राज्य में 20 लाख से अधिक मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। मतदान के लिए दो लाख से ज्यादा ईवीएम-वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा और ईवीएम के साथ-साथ पूरे राज्य में वीवीपैट मशीनों का उपयोग पहली बार हो रहा है। बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले इन चुनावों को बेहद अहम माना जा रहा है। अभी तक के सर्वे बता रहे हैं कि इस बार राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का ताज छिन सकता है और कांग्रेस की वापसी हो सकती हैं।

-शुरुआती सुस्ती के बाद राजस्थान में वोटिंग में थोड़ी तेजी आई है। राज्य में सुबह 11 बजे तक 21.89% मतदान की खबर

-बीकानेरे के किसमीदेसर के पोलिंग बूथ संख्या 172 पर ईवीएम में कुछ खराबी आ गई है, अधिकारी ईवीएम को बदल रहे हैं। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल भी पिछले एक घंटे से लाइन में खड़े हैं
-कांग्रेस नेता एवं पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने जोधपुर के बूथ नंबर 106 पहुंच कर डाला अपना वोट
-सुबह 9 बजे तक 6% वोटिंग हुई है। यहां सुबह 8 बजे वोटिंग शुरू हुई थी।
-राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने उदयपुर में अपना वोट डाल दिया है।
-केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने जयपुर के वैशाली नगर में वोट डाला
-अब मोदी की लहर खत्म हो चुकी है। अब राजस्थान की जनता बदलाव चाहती है और ये बदलाव कांग्रेस देगी: सचिन पायलट
-जनता पूरी तरह से पार्टी के साथ है। हमने विकास का काम किया है। यह विकास का वोट है: वसुंधरा राजे सिंधिया
-राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने झलावर के झालरापाटन के पिंक बूथ में अपना वोट डाला
-राजस्थान के झलावर में सजा पिंक पोलिंग बूथ, यहां सभी कर्मी महिलाएं हैं
-कुछ जगहों से ईवीएम खराब होने की ख़बरें भी आई हैं। झालरापाटन और टोंक में ईवीएम खराब हुई है। झालरापाटन वसुंधरा राजे का विधानसभा क्षेत्र है
-PM मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”राजस्थान में आज मतदान का दिन है। राज्य के सभी मतदाताओं से मेरा आग्रह है कि वे पूरे उत्साह के साथ लोकतंत्र के महापर्व में अवश्य भाग लें और भारी संख्या में मतदान करें।”
-राज्य के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया वोटिंग से पहले शिव मंदिर में पूजा करते हुए

यह भी पढ़े  मुख्यमंत्री की रेस में सचिन पायलट को पछाड़कर आगे निकले गहलोत

-झुंझुनू जिले में 4400 पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं, 7080 मतदान कर्मी मतदान करवाएंगे
-13 सीसी टीवी कैमरे हरियाणा बॉर्डर पर लगाए गए हैं
-राजस्थान के चुनाव नतीजे छत्तीसगढ़, मिजोरम, तेलंगाना और मध्यप्रदेश के साथ 11 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे
-मतदाताओं के पास नोटा का भी विकल्प मौजूद होगा, राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं
-राजस्थान में 4.74 करोड़ लोग मतदान करने के योग्य हैं
-राजस्थान में सुबह 8 बजे से मतदान शुरू होगा
-सभी विधानसभा क्षेत्रों में वीवीपैट का प्रयोग किया जाएगा

1,44,941 जवानों पर होगा मतदान निष्पक्ष तथा शांतिपूर्ण ढंग से करवाने का जिम्मा

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया कि राज्य में स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न करवाने का जिम्मा 1,44,941 जवानों पर है जिनमें केंद्रीय सुरक्षा बलों की 640 कंपनियां शामिल हैं। राज्य में कुल 387 नाके और चैक पोस्ट लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए कुल 4,74,37,761 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इनमें 2,47,22,365 पुरुष तथा 2,27,15,396 महिला मतदाता है। इनमें से पहली बार मतदान कर रहे युवा मतदाताओं की संख्या 20,20,156 हैं।

यह भी पढ़े  भाजपा विधायक शुभकरण चौधरी का उंगलियां काटने की धमकी वाला वीडियो वायरल

199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से कुल 2,274 उम्मीदवार चुनाव मैदान में

राज्य के 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से कुल 2,274 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इंडियन नेशनल कांग्रेस से 194, भारतीय जनता पार्टी से 199 उम्मीदवार, बहुजन समाज पार्टी से 189, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से 01, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से 16 एवं मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से 28 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं जबकि 817 गैर मान्यता प्राप्त दलों के प्रत्याशी एवं 830 निर्दलीय उम्मीदवार हैं।

राजस्थान में विधानसभा की कुल सीटों की संख्या 200 है लेकिन एक सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया है। कुमार ने बताया कि अलवर जिले के रामगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह का 29 नवम्बर को निधन हो गया है। वहां का चुनाव स्थगित कर दिया गया है।

चार लाख से ज्यादा दिव्यांगजनों के लिए विशेष सुविधा

राज्य के चार लाख से ज्यादा दिव्यांगजनों के लिए विशेष सुविधा की गई है। उनको मतदान के लिए घर से लाने की व्यवस्था की गई है। 259 मतदान केंद्रों का जिम्मा महिलाओं के हवाले होगा जहां मतदान दलकर्मी, सुरक्षाकर्मी इत्यादि सभी महिलाएं होंगी। इस बीच विभाग को सी-विजिल एप से अब तक 3,784 से अधिक शिकायतें मिलीं जिनमें से 3,098 शिकायतें सही पाई गई है।

यह भी पढ़े  हवा महम की जनता के हाथ में फैसला, कांग्रेस या BJP किसे मिलेगी जीत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here