Lok Sabha Chunav 2019: बंगाल के छठे चरण में भी ‘हिंसा’, TMC-BJP कार्यकर्ताओं की हत्या

0
99

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Chunav 2019) के छठे चरण के लिए मतदान जारी है. इस चरण में पश्चिम बंगाल (West Bengal) की भी 8 सीटों पर मतदान हो रहे है, लेकिन मतदान शुरू होने से पहले ही हिंसा की खबरें भी आ रही हैं. बंगाल के झारग्राम में भारतीय जनता पार्टी के बूथ कार्यकर्ता का शव मिला, मृत व्यक्ति का नाम रामेन सिंह बताया जा रहा है. पश्चिम बंगाल में वोटिंग होने के साथ-साथ हिंसा का दौर भी लगातार चरम पर है. BJP के कार्यकर्ता के अलावा एक टीएमसी कार्यकर्ता का भी शव बरामद हुआ है. तो वहीं दो टीएमसी कार्यकर्ताओं को गोली मारे जाने की खबर भी है. मिदनापुर में भी दो टीएमसी कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई है. दोनों कार्यकर्ताओं को अस्पताल में भर्ती किया गया है.

भारती घोष ने तृणमूल कांग्रेस पर लगाया आरोप
बंगाल की बहुचर्चित पूर्व IPS ऑफिसर और घाटल सीट से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी भारती घोष ने आरोप लगाया है कि तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनके साथ बदतमीजी की है. उन्होंने आरोप लगाया है कि केशपुर में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने उनके साथ बदसलूकी की है. घोष ने बताया कि बीजेपी कार्यकर्ता को बूथ में घुसने से रोका गया जिसके बाद वो बूथ पर पहुंची तभी तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें धक्का देकर गिरा दिया. घोष नीचे गिर पड़ीं जिसके बाद उनकी आंखों में आंसू आ गए.

यह भी पढ़े  भाजपा ने शुरू किया अभियान ‘‘एक दीया श्रीराममंदिर के नाम’

झारग्राम में बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या
पश्चिम बंगाल के झारग्राम में भी आज वोटिंग है, जहां बीजेपी कार्यकर्ता रामेन सिंह की हत्या कर दी गई है. इसके लिए बीजेपी ने टीएमसी के कार्यकर्ताओं को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. हालांकि, स्थानीय पुलिस ने इससे इनकार किया है. शुरुआती जांच के आधार पर पुलिस का कहना है कि रामेन सिंह पहले से ही बीमार था और उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. झारग्राम जिले के चुनसोले गांव में गांववालों ने देर रात को बीजेपी कार्यकर्ता का शव बरामद किया था. बीजेपी का आरोप है कि उनके कार्यकर्ता की हत्या पीट-पीट कर की गई है.

TMC कार्यकर्ता की भी हत्या
एक ओर जहां झारग्राम में भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता की हत्या की गई है, तो वहीं दूसरी ओर मरधारा के कांठी में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता को मारा गया है. टीएमसी के सुधाकर मैती रविवार रात से ही गायब थे, लेकिन बाद में उनका शव मिला. बताया जा रहा है कि देर रात को वह किसी रिश्तेदार से मिलने जा रहे थे लेकिन वापस ही नहीं लौटे. हालांकि, ये हत्या कब, कैसे और किसने की है इसकी खोजबीन अभी भी जारी है.

यह भी पढ़े  रैली के दौरान बाइक से गिरे सांसद पप्पू यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here