J&K: अगवा किए गए पुलिस कांस्टेबल जावेद अहमद डार का शव शोपियां से बरामद

0
16

जम्मू-कश्मीर पुलिस के कांस्टेबल जावेद अहमद दार जिन्हें गुरुवार को आतंकियों ने अगवा किया था आज कुलगाम में उनका शव बरमाद हुआ है। जावेद को तीन आतंकियों ने शोपियां से उस वक्त अगवा किया था जब वो दवा खरीदने जा रहे थे।

27 वर्षीय जावेद के अगवा होने के बाद से ही सुरक्षाकर्मी अलर्ट पर थे। घाटी में सुरक्षाबलों को अगवा कर मारने का यह दुसरा मामला है। इससे पहले 44 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब को आतंकियों ने पुलवामा में उस वक्त अगवा किया था, जब वो ईद मनाने अपने घर जा रहे थे। अगले दिन गुस्सा गांव में गोलियों से छलनी उनका शव बरामद हुआ था। गुरुवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी सुरक्षा का जायजा लेने श्रीनगर दौरे पर थे।

श्रीनगर में चली उच्चस्तरीय बैठक में राजनाथ सिंह के साथ राज्यपाल एन एन वोहरा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल और श्रीनगर के शीर्ष पुलिस अधिकारियों ने हिस्सा लिया था। बैठक के बाद गृह मंत्री ने कहा, राज्य में शांति और स्थिरता को एक ईमानदार, प्रभावी और कुशल प्रशासन के माध्यम से ही लाया जा सकता है।

यह भी पढ़े  जम्मू-कश्मीर: सुंजवान आर्मी कैंप में आतंकियों को घेर लिया है, ऑपरेशन जारी- भारतीय सेना

औरंगजेब की हत्या
यदि आपको याद हो तो आतंकवादियों ने 14 जून को सेना के जवान औरंगजेब को कलमपोरा से अगवा किया गया था जिसके बाद उनकी हत्या कर दी थी. औरंगजेब अपने गांव ईद मनाने के लिए गये थे. औरंगजेब की हत्या करने के पहले आतंकवादियों ने उनका एक वीडियो भी बनाया था , जिसमें आतंकवादियों ने उनसे कई सवाल भी पूछे थे और वीडियो में साफ नजर आ रहा था कि अंतिम क्षणों में भी औरंगजेब आतंकियों से डरा नहीं और बेबाकी से जवाब देते नजर आये. वे 44 राष्ट्रीय राइफल के साथ शोपियां के शादीमर्ग में तैनात थे.

पहले भी इस तरह की घटना को अंजाम दे चुके हैं आतंकी
आतंकी पहले भी छुट्‌टी पर आने वाले जवानों को निशाना बना चुके हैं. मई 2017 में सेना के लेफ्टिनेंट उमर फयाज की आतंकियों ने अगवा करने के बाद हत्या कर दी थी. उमर फयाज  22 साल के थे जो अपने कजन की शादी समारोह में शामिल होने शोपियां पहुंचे थे. 2017 में शोपियां के ही टेरिटोरियल आर्मी जवान इरफान अहमद को आतंकियों ने गोली मार दी थी. उन्हें भी घर से ही अगवा किया गया था.
ऑपरेशन ऑलआउट से बौखलाये आतंकी
आतंकी राज्यपाल शासन में सुरक्षाबलों की कार्रवाई से बौखला चुके हैं. सेना आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट में तेजी लायी है. 22 आतंकियों की हिटलिस्ट तैयार की है, जिसमें हिजबुल मुजाहिद्दीन के 11, लश्कर-ए-तैयबा के सात और जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी शामिल हैं. हाल ही में सेना ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के प्रमुख दाऊद अहमद सलाफी उर्फ बुरहान और उसके तीन सहयोगी को ढेर कर दिया था.

यह भी पढ़े  कश्मीर में आतंकियों की आफत , तीन आतंकी ढेर, SOG का जवान शहीद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here