IRCTC घोटाले में लालू, तेजस्वी और राबड़ी देवी पर चार्जशीट दायर

0
7

रेलवे होटल टेंडर घोटाला मामले में आज राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी सह बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उनके पुत्र तेजस्वी यादव के साथ ही 14 लोगों पर चार्जशीट दाखिल किया गया है। बता दें कि इस घोटाले में राबड़ी, लालू, तेजस्वी आरोपी बनाए गए हैं और उनसे सीबीआइ ने पूछताछ की है।

10 अप्रैल को राबड़ी आवास पहुंची सीबीआई की विशेष टीम

सीबीआई की विशेष टीम दस अप्रैल को राबड़ी आवास पहुंची थी और राबड़ी-तेजस्वी से घंटों पूछताछ की थी।यह पूछताछ रेल टेंडर घोटाला मामले में की गयी थी, जिसमें राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत आठ मुख्य लोगों को सीबीआई ने नामजद आरोपित बनाते हुए एफआईआर दर्ज की थी। उसी वक्त कयास लगाए जा रहे थे कि इस मामले में अब जल्द चार्जशीट दाखिल हो सकती है।

मामले में हैं आठ नामजद आरोपी 

लालू प्रसाद के रेल मंत्री के कार्यकाल में रेल होटल टेंडर घोटाला हुआ था, जिसमें आठ लोग तात्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद , पूर्व सीएम राबड़ी देवी, पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव, सरला गुप्ता (राजद सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी), पीके गोयल (तत्कालीन एमडी, आइआरसीटीसी), बिनय कोचर और विजय कोचर (सुजाता होटल एवं चाणक्य होटल के मालिक) के अलावा दिल्ली स्थित लारा प्रोजेक्ट एलएलपी एवं डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड से जुड़े अन्य प्रमुखों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

यह भी पढ़े  हिमाचल की जीत बिहार भाजपा की जीत : मंगल

क्या है रेल होटल टेंडर घोटाला

सीबीआई की जांच में यह बात सामने आयी है कि मई 2004 में लालू प्रसाद ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए रेलवे की पुरी और रांची स्थित रेल रत्न होटलों का आवंटन कोचर बंधु की कंपनी सुजाता होटल को कर दिया था।इसके बदले में मिले करोड़ों रुपये की जमीन और जायदाद को शेल कंपनी लारा प्राइवेट लिमिटेड (पहले इसका नाम डिलाइट मार्केटिंग था) के नाम पर ट्रांसफर किये गये थे। इस कंपनी की निदेशक राबड़ी देवी और तेजस्वी प्रसाद हैं। इस वजह सीबीआई की जांच की जद में ये भी आ गयेहैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here