बिहार के फोर्ड हॉस्पिटल सहित दो डाक्टर को मिला सर्वश्रेष्ठ उत्कृष्टता पुरस्कार

0
47
ग्लोबल हेल्थकेयर उत्कृष्टता पुरस्कार, 2018 से सम्मानित पटना के फोर्ड अस्पताल के डाक्टर

दुनिया भर में स्वास्थ की देख भाल को लेकर हो रहे कार्यो को आकलन करने के लिए पिछले छह वर्षो से आयोजित होने वाले ग्लोबल हेल्थकेयर उत्कृष्टता पुरस्कार इस वर्ष भी दिल्ली में आयोजित किया गया . इस आयोजन में ऐसे संस्थानों या व्यक्तियों, कंपनियों, एजेंसियों, सरकार और अन्य संगठनों को नामित किया जाता है जो सवास्थ के क्षेत्र में अमूल्य योग्यदान दिए हो . वैसी संस्थाए या वैसे डाक्टर जिन्होंने लोगों के लिए अपने क्लीनिक, अस्पताल और यहां तक कि हेल्थकेयर शिविरों में भाग लेने के अवसर पैदा किए हैं।

हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. बीबी भारती ग्लोबल हेल्थकेयर उत्कृष्टता पुरस्कार के साथ

ग्लोबल हेल्थकेयर उत्कृष्टता पुरस्कार, के माध्यम से स्वास्थ के क्षेत्र में कार्य कर रहे कार्यकर्ताओं को उनके किये गए अमूल्य कार्यो से दुनिया को अवगत कराने के लिए उन्हें पुरस्कृत करने का माध्यम है . जिसका आयोजन इस बार प्राइम टाइम मीडिया के तरफ से किया गया था . यह कार्यक्रम चिकित्सा उद्योग के वैसे लोगो के प्रति समर्पित था जो हेल्थकेयर और सेवा क्षेत्र में उत्कृष्टता, प्रतिष्ठा और अनुकरणीय काम किये है . इस वर्ष 6 वें ग्लोबल हेल्थकेयर उत्कृष्टता पुरस्कार, 2018 में बिहार के नाम तीन पुरस्कार रहे जिसमे पटना स्थित फोर्ड अस्पताल रिसर्च सेंटर को “बेस्ट प्रोमोसिंग मल्टी स्पेशलिएटी हॉस्पिटल 2018” से पुरस्कृत किया गया . इसके साथ बिहार के नाम दो और पुरस्कार प्राप्त हुए जिसमे बेस्ट इंटरवेंशनल का एवार्ड पटना के मसहुर हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. बीबी भारती को दिया गया है , इसके साथ साथ सर्वश्रेष्ठ लैप्रोस्कोपिक सर्जन का पुरस्कार डॉ. संतोष कुमार को प्राप्त हुआ है . यह एक पुरस्कार भर नहीं होता है यह दर्शाता है की आप अपने कार्य के प्रति कितने समर्पित है आपके अंदर इस क्षेत्र में किये गए कार्यो का सही मूल्यांकन होता है इससे मिली ऊर्या से आगे आपमें तथा आपको देख दुसरो को भी बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करता है .

यह भी पढ़े  जय प्रकाश की भूमि पर फिर प्रकाश की जय होगी:तेजस्वी
लैप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. संतोष कुमार ग्लोबल हेल्थकेयर उत्कृष्टता पुरस्कार के साथ

आपको बता दे डा बीबी भारती पटना के मसहुर हृदय रोग विशेषज्ञ है फोर्ड हॉस्पिटल से जुड़े है , वे स्वास्थ के क्षेत्र में कई प्रकार के समाजिक कार्यो से भी जुड़े रहेते है . कई ऐसी संस्थाओं में वह निशुल्क परामर्श प्रदान करते है मीडिया के माध्यम से भी यह आमलोगों को उनके हेल्थ के प्रति जागरूक रहने का समय समय पर परामर्श प्रदान करते है . पिछले वर्ष बिना चिर फाड़ के एक 22 साल के मरीज को जीवन दान दिए थे जिसके दिल में जन्मजात सात मिलीमीटर का छेद था जिसका इलाज फोर्ड अस्पताल में चल रहा था । इसके अलावा यह नवजात शिशुओं से लेकर बुजुर्गों तक में होने वाले हृदय रोगों के इलाज के लिए फोर्ड हॉस्पिटल की अपनी टीम के साथ 24 घंटे उपलब्ध रहते है। वही पटना के मसहुर लैप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. संतोष कुमार भी फोर्ड हॉस्पिटल से जुड़े है .

फोर्ड अस्पताल रिसर्च सेंटर को “बेस्ट प्रोमोसिंग मल्टी स्पेशलिएटी हॉस्पिटल 2018” से पुरस्कृत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here