आज फिर होगी आरजेडी की बैठक, विधायकों और नेताओं को होगा तेजस्वी का इंतजार

0
317
file photo

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) इन दिनों सदस्यता अभियान को लेकर लगातार बैठक कर रही है. शुक्रवार को सदस्यता अभियान में तेजी लाने के लिए राबड़ी देवी की अध्यक्षता में विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी. जिसमें तेजस्वी यादव के भी शामिल होने की बात कही गई थी. लेकिन वह शामिल नहीं हुए. जबकि बैठक के बाद कहा गया कि शनिवार को फिर बैठक होगी जिसमें तेजस्वी यादव मौजूद होंगे.

राजद की वर्तमान स्थिति और सदस्यता अभियान को लेकर बुलायी गयी बैठक आज पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी की अध्यक्षता में शुरू हुई। बैठक में वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों में आरजेडी की भूमिका पर वरीय नेताओं, विधायकों और पूर्व जिलाध्यक्षों से विचार-विमर्श किया गया। इस अहम बैठक में पार्टी नेता व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव के साथ-साथ मीसा भारती भी शामिल नहीं हुई हैं। बैठक के बाद पार्टी नेताओं ने कहा कि बैठक को कल शनिवार तक जारी रखा गया है। साथ ही पार्टी नेताओं ने बताया कि पार्टी नेता तेजस्वी यादव शनिवार को बैठक में शामिल होंगे। तेजस्वी यादव के शनिवार को तीन बजे आने की बात कही गयी है। वहीं, पार्टी की बैठक के संबंध में पूछे जाने पर नेताओं ने कहा कि सभी विधायकों को 15 हजार सदस्य बनाने के लिए कहा गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी विधायकों की ओर से बीस से तीस हजार सदस्य बनाये जाने का आश्वासन दिया गया है।तेजस्वी की अनुपस्थिति हो रही बैठक का लेकर नेताओं के बीच र्चचा है। बैठक में तेजस्वी की उपस्थिति नहीं होने पर नेता अब्दुल गफूर ने कहा कि तेजस्वी के आने या नहीं आने से कोई फर्क नहीं पड़ता है, पार्टी चलती रहेगी। वहीं, राहुल तिवारी ने कहा कि हमलोगों ने राजद और लालटेन का झंडा थामा है। लालू प्रसाद और राबड़ी देवी हमारी नेता हैं। हम राबड़ी देवी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहे हैं। वहीं, वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि आज की बैठक सदस्यता अभियान को लेकर है। बैठक में संघर्ष की तैयारी होगी। हमारी पार्टी के नेताओं की कमी नहीं है। सिर्फ तेजस्वी यादव नहीं हैं, उससे फर्क नहीं पड़ने वाला। तेजस्वी यादव कहां हैं पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें पता नहीं। साथ ही कहा कि तेजस्वी यादव हमारे सीएम का चेहरा हैं। तेजस्वी यादव की अनुपस्थिति को लेकर पूछे गये मीडियाकर्मियों के सवाल पर तंज कसते हुए कहा कि जब सीएम पद का शपथ होगा, तब ना तेजस्वी यादव की खोज होगी। वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने भी तेजस्वी की अनुपस्थिति को लेकर कहा कि फर्क तो पड़ता ही है, तेजस्वी यादव नेता प्रतिपक्ष हैं। पार्टी के कार्यकलापों में उनकी सहभागिता जरूरी है।

यह भी पढ़े  प्रदेश में आंध्र की मछलियों की बिक्री पर जारी रहेगी रोक

तेजस्वी यादव की सक्रिय राजनीति से दूर होने के बाद लगातार सूबे में इसे लेकर सियासत हो रही है. वहीं, पार्टी के अंदर भी लगातार इस बात की चर्चा हो रही है कि आखिर तेजस्वी यादव राजनीति से दूरी क्यों बनाए हुए हैं. शुक्रवार को हुई बैठक में भी कई विधायकों ने इस बारे में सवाल किया. जिसके बाद कहा गया कि वह शनिवार की बैठक में शामिल होंगे.

शनिवार को भी सदस्यता अभियान को लेकर बैठक होनी है. बताया गया है कि तेजस्वी यादव इस बैठक में शामिल होंगे. हालांकि, इस बारे में तेजस्वी यादव की ओर से पुष्टि नहीं की गई है.

तेजस्वी यादव की राजनीति को लेकर सत्तापक्ष भी सवाल कर रहा है. चुकि वह प्रतिपक्ष नेता है इसलिए सत्तापक्ष निशाना साध रहा है और कह रहा है कि वह भाग गए हैं. वहीं, बीजेपी नेता तंज कस रहे हैं कि आरजेडी पार्टी अब खत्म होनेवाली है. हालांकि आरजेडी सत्तापक्ष के तंज का जवाब दे रहा है, लेकिन तेजस्वी यादव के दूरी को वरिष्ठ नेता भी समझ नहीं पा रहे हैं.

यह भी पढ़े  शहीदों को श्रद्धांजलि के बाद विस की कार्यवाही स्थगित

इन दिनों आरजेडी की कमान राबड़ी देवी खुद संभाल रही है. शुक्रवार को हुई बैठक में विधायकों को सदस्यता अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है. विधायकों का कहना है कि उन्हें 15 हजार सदस्य बनाने का टारगेट दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here