बाढ़ में अनंत सिंह के घर छापा एके 47 व विस्फोटक बरामद,FIR दर्ज, हो सकते हैं गिरफ्तार

0
176

मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत कुमार सिंह के पुश्तैनी मकान बाढ़ थाना क्षेत्र के लदमा गांव में शुक्रवार को पुलिस ने छापेमारी कर एके-47 राइफल, मैगजीन और गोलियां तथा दो हैंड ग्रेनेड जैसी दिखने वाली दो वस्तु बरामद की है। ग्रामीण एसपी कांतेश कुमार मिश्रा व सहायक पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के नेतृत्व में छापेमारी की गई। एएसपी ने बताया कि नदवा गांव के पैतृक आवास से हथियारों की बरामदगी हुई है। ग्रामीण एसपी कांतेश मिश्रा गांव में कैम्प कर रहे हैं। ग्रामीण एसपी ने बताया कि बम निरोधक दस्ता और एटीएस की टीम को बुलाया गया है। ग्रामीण एसपी ने बताया कि संदिग्ध वस्तुओं के रखे जाने की सूचना मिलने के बाद छापेमारी की गई। विधायक के घर के केयर टेकर द्वारा ही घर का ताला खोला गया था। सूचना मिली थी कि विधायक के घर से और दूसरे ठिकानों से हथियारों का मूवमेंट किया जाना है। पुलिस का कहना है कि प्रतिबंधित हथियारों के मूवमेंट की जानकारी मिलने के बाद पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के दौरान एके 47 और मैगजीन बरामद की गई। बाढ़ पुलिस को सूचना मिलने के बाद वरीय पुलिस अधिकारियों को सूचना से अवगत कराया गया। जिला पुलिस मुख्यालय की सूचना के बाद राज्य पुलिस मुख्यालय भी हरकत में आ गई । राज्य पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर तत्काल एटीएस को भी मौके पर भेजा गया है, जिसकी जांच खबर लिखे जाने तक चल रही है। मौके पर कई थानों की पुलिस के साथ ही पटना से आये बम निरोधक दस्ता के अलावे अन्य टुकड़ियां मामले की जांच कर रही हैं। ग्रामीण एसपी ने बताया कि गुप्त सूचना के बाद एएसपी लिपि सिंह के नेतृत्व मे छापेमारी की गई। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी । उन्होंने बताया कि मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की गई थी । पुलिस द्वारा की गई पूरी कारवाई की वीडियोग्राफी भी कराई गई। मजिस्ट्रेट के तौर पर बाढ़ के बीडीओ अमरेन्द्र कुमार सिन्हा को तैनात किया गया था।

यह भी पढ़े  राजद ने किया सदस्यता अभियान का शुभारंभ

वही निर्दलीय विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें बढ़ गई है उनके पैतृक घर नदावां से एके 47 और ग्रेनेड बरामदगी मामले में उनपर केस दर्ज कर लिया गया है. पटना जिले के बाढ़ थाने में इसी थाने के थानाध्यक्ष के बयान पर ये केस दर्ज किया गया है. पहले से हत्या की सुपारी दिए जाने के आरोप में ऑडियो वायरल होने के मामले में विधायक का टेस्ट करवाया गया था. जिसकी रिपोर्ट का इंतजार पुलिस टीम कर रही है. अब हथियार मिलने से विधायक की मुश्किलें अब और भी बढ़ गई हैं. बताया जा रहा है कि इस केस की जांच कोई एएसपी रैंक के अफसर को दी जा सकती है. दरअसल यह मामला एक विधायक और अत्याधुनिक हथियार एके 47 से जुड़ा है और ग्रेनेड की बरामदगी हुई है. इसलिए एएसपी रैंक के अधिकारी को IO बनाने की चर्चा है. पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बाढ़ से बाहर के एएसपी रैंक के अफसर को इस केस की जांच सौंपी जा सकती है.पुलिस सूत्रों के अनुसार एके 47 बरामदगी के बाद अब विधायक अनंत सिंह की गिरफ्तारी किसी भी वक्त हो सकती है. सूत्रों की मानें तो पुलिस इस मामले में तेजी से कार्रवाई करेगी. इसकी तैयारी भी महकमे ने शुरू कर दी है.

यह भी पढ़े  न्यू मार्केट की दर्जन भर दुकानें राख

मुंगेर में भी मिले थे असेंबल्ड एक 47
बता दें कि कुछ महीने पहले मुंगेर के बरहद गांव से भारी संख्या में एके 47 बरामदगी की गई थी. मध्यप्रदेश के जबलपुर स्थित ऑर्डिनेंस फैक्ट्री से गायब किए गए उन हथियारों के पार्ट्स भी अलग-अलग थे. यानि ये भी असेंम्बल्ड थे. अनंत सिंह के घर से मिले एके 47 रायफल के पुर्जे भी अलग-अलग जगहों से मंगवाए गए हैं. कुछ पार्ट्स खुले हुए भी थे. गौरतलब है कि इसकी जांच भी राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) कर रही है.पुलिस सूत्रों के अनुसार एके 47 पर मिले नंबर पुलिस की जांच के लिए बड़ा क्लू हो सकता है. दरअसल हथियार के अलग-अलग पार्ट्स पर नंबर अंकित हैं. उन नंबरों के जरिये यह पता किया जा सकता है कि हथियार कहां से और कब लाए गए थे. इसके सप्लायर का पता भी पुलिस को चल सकता है. जाहिर है जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ेगी अभी इसकी कई परतें खुलती जाएंगी.

यह भी पढ़े  देश सहित विदेशों में भी मशूहर होने लगा पटना डेयरी का " दही खाओ, इनाम पाओ प्रतियोगिता"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here