पूर्व सांसद पप्पू यादव ने जीतनराम मांझी से की मुलाकात

0
191
file photo

क्या बिहार में आरजेडी को एक और झटका लगने जा रहा है? क्या प्रदेश में थर्ड फ्रंट स्वरूप लेने लगा है? क्या आने वाले चुनाव में एनडीए के सामने बिखरा हुआ विपक्ष होगा? दरअसल ये सवाल हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी और जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद पप्पू यादव की मुलाकात के बाद उठ रहे हैं. इसके साथ ही पप्पू यादव और सीपीआई के कन्हैया कुमार के बीच मुलाकात ने तीसरे मोर्चे वाली राजनीतिक चर्चा को और जोर दे दिया है.

2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टियों ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। गुरुवार को पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी से मुलाकात करने उनके सरकारी आवास पर पहुंचे। मांझी और पप्पू यादव के बीच करीब 2 घंटे तक बातचीत हुई।

दोनों नेताओं के बीच दो घंटे तक हुई मुलाकात में विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक पप्पू यादव ने मांझी को नए बिहार के लिए नए विकल्प का नेतृत्व करने का ऑफर दिया। जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार को भी साथ लेकर चलने पर बात हुई। पप्पू यादव ने कहा कि मांझी और कन्हैया के साथ ही बेहतर विकल्प की संभावना बनेगी।

यह भी पढ़े  हत्या के विरोध में बंद रहीं बाकरगंज की दुकानें

बता दें कि अगले साल अक्टूबर-नवंबर में बिहार विधानसभा चुनाव होना है। इसको लेकर बिहार में सभा राजनीतिक पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद विपक्ष चारों खाने चित्त हो चुका है। राजद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर सॉफ्ट है। पिछले दिनों राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने यहां तक कह दिया था कि प्रधानमंत्री मोदी का सामना करने के ताकत केवल नीतीश कुमार में ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here