सरकार का सपना है कि चिकित्सा के क्षेत्र में आदर्श बने यह संस्थान : नीतीश कुमार

0
230

राज्य सरकार ने पटना स्थित इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीएमएस) को 2500 शय्या का विशिष्ट अस्पताल बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस संस्थान को दिल्ली स्थित एम्स की तरह बनाया जायेगा। यह बात मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कही।मुख्यमंत्री ने मंगलवार को आईजीआईएमएस परिसर में 500 शय्या वाले अस्पताल भवन निर्माण का शिलान्यास और भूमि पूजन कर कार्यारंभ करने के बाद कहा कि आईजीआईएमएस को 2500 बेड का अस्पताल बनाने का लक्ष्य है। आज से 500 बेड के अस्पताल का निर्माण कार्य शुरू हुआ है और 1200 बेड का भी विस्तृत परियोजन प्रतिवेदन (डीपीआर) बनकर तैयार है, जल्द ही स्वीकृत कर उसका भी टेंडर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आईजीआईएमएस को चिकित्सा क्षेत्र में आदर्श बनाने का सरकार का सपना है। अभी यहां कैंसर संस्थान भी कार्य कर रहा है और अन्य बीमारियों का भी इलाज बेहतर तरीके से किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आईजीआईएमएस को एम्स, दिल्ली की तरह बनाना है। उन्होंने कहा कि इस संस्थान की स्थिति धीरे-धीरे बिगड़ती जा रही थी, लेकिन जब नवम्बर 2005 में मेरी सरकार बनी, तब आईजीआईएमएस के विस्तार के लिए फंड का आवंटन शुरू हुआ। अब यहां ज्यादा संख्या में मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। उन्होंने आास्त किया कि राज्य सरकार डॉक्टर, नर्स, पारा मेडिकल स्टाफ, प्रशासनिक अधिकारी, विशेषज्ञ एवं अन्य जरूरतों के लिए संसाधन उपलब्ध कराने में पीछे नहीं रहेगी। सरकार के निर्णय के अनुसार हर एक मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग कॉलेज बनाया जा रहा है, जिससे नसरें की उपलब्धता सुनिश्चित होगी।सीएम ने कहा कि पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) राज्य का पुराना और प्रतिष्ठित अस्पताल रहा है, जहां नेपाल, पूर्वी उत्तरप्रदेश, असम और दूसरे राज्य के मरीज इलाज के लिए पहले आते थे। अब सरकार फिर से इसे एक आदर्श अस्पताल के रूप में बनाना चाह रही है। सरकार की योजना इसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर का अस्पताल बनाने की है, जहां मरीजों के उपचार के लिए 5400 बेड होंगे। दुनिया में इतनी बड़ी संख्या के बेड का अस्पताल कहीं नहीं है। उन्होंने कहा कि इसके लिए डीपीआर तैयार है और इसके निर्माण की स्वीकृति भी मिल गयी है।

यह भी पढ़े  COVID-19 से मौत पर बिहार सरकार देगी चार लाख

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here