लोस चुनाव का दूसरा चरण : 68 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला आज

0
207
लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में राज्य के पांच लोकसभा क्षेत्रों किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर और बांका में गुरुवार को वोट डाले जायेंगे. कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह सात बजे से मतदान शुरू होगा.
सिर्फ बांका लोकसभा क्षेत्र के दो विधानसभा क्षेत्रों बेलहर व  कटोरिया में मतदान शाम चार बजे तक होगा. शेष सभी जगह मतदान शाम छह बजे तक चलेगा. इन पांचों सीटों पर 68 प्रत्याशी मैदान में हैं. पहले चरण में 11 अप्रैल को राज्य की चार सीटों गया, औरंगाबाद, नवादा व जमुई में मतदान हो चुका है.  अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि दूसरे चरण का मतदान कराने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं.
सभी बूथों पर पर्याप्त संख्या में केंद्रीय अर्धसैनिक बल की तैनाती की गयी है. बुधार को पोलिंग पार्टी को डिस्पैच कर दिया गया है. बूथों पर पार्टी पहुंच चुकी है. उन्होंने बताया कि इस चरण में 186 बूथ नक्सलग्रस्त हैं, जिनमें 70 बांका में और 16 भागलपुर में हैं. 3025 क्रिटिकल बूथ हैं. 160 बूथों पर वेबकास्टिंग करायी जायेगी.
साथ ही 2225 बूथों पर माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात किये गये हैं. पांच संसदीय क्षेत्रों में 86 लाख एक हजार मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. उन्होंने बताया कि मतदान के लिए कुल 37 हजार मतदानकर्मी तैनात किये गये हैं. अब तक किसी भी लोकसभा क्षेत्र से मतदान के पूर्व किसी तरह के तनाव की सूचना नहीं हैं.
दूसरे चरण के मतदान में 11 मान्यताप्राप्त दलों के प्रतिनिधि मैदान में हैं.  दियारा के नौगछिया, बीहपुर और गोपालपुर जैसे इलाकों में नावों की तैनाती की गयी है. हेलीकॉप्टर से भी निगरानी की जायेगी. मंगलवार व बुधवार को वरीय पुलिस अधिकारियों ने हवाई निरीक्षण किया. किशनगंज से सटे भारत-नेपाल सीमा, बिहार-झारखंड सीमा को सील कर दिया गया है.
दूसरे चरण में जदयू, कांग्रेस व राजद  की प्रतिष्ठा दांव पर
दूसरे चरण की पांचों सीटों पर एनडीए की ओर से जदयू लड़ रहा है. पिछले लोकसभा चुनाव में जदयू अकेले लड़ा था और पूर्णिया में जीत हासिल की थी. इस तरह उसके सामने पूर्णिया सीट बरकरार रखते हुए चार अन्य सीटें किशनगंज, कटिहार, भागलपुर व बांका जीतने की चुनौती है.
वहीं, महागठबंधन की आेर से पांच में से तीन सीटों पर कांग्रेस और दो सीटों पर राजद लड़ रहा है. राजद अपनी दोनों सीटिंग सीटों पर बांका व भागलपुर से लड़ रहा है, तो कांग्रेस अपनी एक सीटिंग सीट किशनगंज के अलावा पूर्णिया व कटिहार से लड़ रही है. 2014 में कटिहार से एनसीपी के टिकट पर तारिक अनवर जीते थे, लेकिन इस बार वह कांग्रेस के टिकट पर लड़ रहे हैं. वहीं, पूर्णिया से उदय सिंह उर्फ पप्पू सिंह इस बार कांग्रेस के टिकट पर भाग्य अजमा रहे हैं.
पिछली बार वह भाजपा के टिकट लड़े थे, लेकिन जदयू के संतोष कुशवाहा से करीब एक लाख 16 हजार वोटों से हार गये थे. कांग्रेस के उम्मीदवार तीसरे नंबर पर रहे थे. मालूम हो कि 2014 में राजद, कांग्रेस व एनसीपी ने मिलकर चुनाव लड़ा था.
यह भी पढ़े  लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री मोदी ने किया तीन तलाक और 370 का जिक्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here