एक घटना से नीति की सफलता या विफलता का आकलन गलत:वीके सिंह

0
213
file photo

पुलवामा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ की घटना पर विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कश्मीर का मुद्दा सामान्य नहीं है. यह छद्म युद्ध का मामला है. यह ऐसा मुद्दा है, जिसके लिए चीजें से पहले से की जानी चाहिए थीं. उन्होंने कहा कि एक घटना के आधार पर ही किसी नीति की सफलता या विफलता का आकलन नहीं करना चाहिए. यह मुठभेड़ थी, जहां एक अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गए. इसका यह मतलब नहीं कि स्थिति खराब हो गई है. वीके सिंह ने कहा कि दक्षिण कश्मीर में 2005 से 2012 के बीच शांति थी. मगर 2012 के बाद वहां क्यों अशांति फैल रही है, क्या आपने इसका विश्लेषण किया. आखिर क्या ऐसा हुआ? उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में एक गठबंधन सरकार सत्ता में आई. जिसमें एक के पास घाटी में व्यापक समर्थन रहा तो दूसरे के पास जम्मू में. लिहाजा पूर्ववर्ती नीतियों की भी समीक्षा करने की जरूरत है. यह देखा जाना चाहिए कि क्या नीतियों की समग्र विफलता या फिर कुछ गलतियों के कारण आतंकवाद को बढ़ावा मिला?

यह भी पढ़े  आर्टिकल 35ए की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में इसी हफ्ते सुनवाई

पांच जवान हुए थे शहीद
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को हुई मुठभेड़ में एक मेजर समेत सेना के पांच जवान शहीद हो गए, जबकि सेना ने जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया. इस मुठभेड़ में एक आम नागरिक की भी मौत हो गई. यह मुठभेड़ उस जगह से कुछ ही दूरी पर हुई , जहां तीन दिन पहले 14 फरवरी को सीआरपीएफ की एक बस पर आत्मघाती हमला हुआ था. अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में पुलवामा जिले के पिंगलान इलाके में हुई मुठभेड़ में एक आम नागरिक की भी मौत हो गई.एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों को 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले के स्थल से करीब 10 किलोमीटर दूर एक इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी. इसके बाद सुरक्षा बलों ने रात में इलाके की घेराबंदी की और तलाश अभियान शुरू किया.

अधिकारियों ने बताया कि तलाश अभियान के दौरान आतंकवादियों ने बलों पर गोलीबारी की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई.मुठभेड़ में जो जवान शहीद हुए हैं वह 55 राष्ट्रीय राइफल के हैं. शहीद होने वालों में मेजर वीएस ढौंडियाल, हवलदार श्योराम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरि सिंह शामिल हैं.एएनआई के मुताबिक बीती रात पाकिस्तान ने पुंछ सेक्टर में सीज फायर का उल्लंघन भी किया है. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर के पुंछ से पीओके के रावलकोट तक जाने वाले बस सेवा को भी सोमवार को लिए रोक दिया गया है.

यह भी पढ़े  कोरोना पिछले 100 सालों में सबसे खराब स्वास्थ्य और आर्थिक संकट, RBI ने कई कदम उठाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here