राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग ने संगोष्ठी आयोजित

0
610
Patna-Nov.16,2018-Deputy director, I & PRD, Ravi Bhushan Sahay is welcoming during National Press Day at Soochna Bhawan in Patna.

पटना-राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर सूचना भवन स्थित ‘‘संवाद’ कक्ष में सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग द्वारा ‘‘डिजिटल युग में पत्रकारिता, आचारनीति और चुनौतियां’ विषय पर एक संगोष्ठी आयोजित की गयी। संगोष्ठी को पीआईबी के निदेशक दिनेश कुमार, पत्रकार रजनी शंकर, प्रशांत झा, मणिकांत ठाकुर, रवि अटल आदि ने संबोधित किया।

Patna-Nov.16,2018-Deputy director, I & PRD, Ravi Bhushan Sahay and others are sitting during National Press Day function at Soochna Bhawan in Patna.

वक्ताओें ने डिजिटल युग की ताकत पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इसे समझना, मैनेज करना तथा समाचारों की तयपरकता से रू-ब-रू कराना आवश्यक है। आज डिजिटल युग एक शक्ति बन चुकी है। परन्तु चुनौतियां कहीं न कहीं दर्द भी दे रही हैं। इसी दर्द की वजह को समझने की जरूरत है।

पत्रकारिता जगत में डिजिटल युग एक अच्छी शुरूआत है जिससे पत्रकारिता त्वरित और आसान हुई है लेकिन फेक न्यूज से बचने के लिए सजग होना होगा ताकि पत्रकारिता की विश्वसनीयता बची रहे। इस युग में यह आश्वयक है कि पंच इन्द्रियों को इस प्रकार इस्तेमाल किया जाय कि चुनौतियों का सामना आसानी से और निष्पक्ष रूप से, गति के साथ हो और उससे उत्पन्न होने वाले दर्द से कैसे बचा जाय इस पर फोकस होना चाहिए। कहा जाता है कि एक ही चाकू दो दर्द देता है, क्योंकि चाकू का इस्तेमाल एक सर्जन भी करता है और एक कसाई भी करता है, अत: हम जिस डिजिटल शक्ति का प्रयोग कर रहे हैं, वह सिर्फ ब्रेकिंग न्यूज की नीयत से नहीं बल्कि समाचार की सत्यता की पुष्टि के साथ प्रयास हो।

यह भी पढ़े  राजगीर में मनाया जाएगा गुरु नानक देव का 550वां जन्मोत्सव : मुख्यमंत्री

डिजिटल युग में इलेक्ट्रोनिक मीडिया की खबरें देश-विदेश में कुछ ही मिनटों में पहुंच जाती है जबकि पहले ऐसा संभव नहीं था। इस प्रकार की प्रारम्भिक शुरूआत वर्ष 2004 में हुई थी जो अब अपनी गति पर है। इसमें दिक्कत यह होती है कि फस्ट एंड फास्ट की आपाधापी में मीडिया तयों की सत्यता को नजरअंदाज करते हुए जो भी उल्टा-सीधा संग्रह करता है उसे ब्रेकिंग के रूप में डाल देता है इस तरह से जो समाचार प्रसारित होता है वह फेक न्यूज हो जाता है इससे बचने की जरूरत है और तयपूर्ण समाचार को ही प्रसारित करने की आवश्यकता पर ध्यान देने की आवश्यकता को महत्व देना होगा।

डिजिटल युग में सोशल मीडिया की चुनौतियां सबसे अधिक है, क्योंकि अल्प समय में ही सोशल मीडिया अपने समाचारों को प्रसारित कर देता है जिससे फेक न्यूज की संख्या बढ़ी है। सोशल मीडिया में सचेत रहकर तयपरक समाचार से ही अवगत कराने का प्रयास करना चाहिए। क्योंकि त्वरित और व्यापक के हिसाब से सोशल मीडिया एक बहुत ही अच्छा प्लेटफार्म है। मीडिया की विश्वसनीयता हेतु आत्म नियंतण्रकी आवश्यकता को बखूबी समझें।

यह भी पढ़े  केंद्रीय मंत्रिपरिषद में एनडीए की सहयोगी जेडीयू को शामिल नहीं किया जाना बिहार की अनदेखी है:आप
Patna-Nov.16,2018-Deputy director, I & PRD, Ravi Bhushan Sahay and others are lighting the lamp to inaugurating National Press Day function at Soochna Bhawan in Patna.

क्त अवसर पर उप निदेशक रवि भूषण सहाय ने सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के उप सचिव संजय कृष्ण विशेष कार्य पदाधिकारी अशोक कुमार की आईडी निदेशक दिनेश कुमार इंडिया टीवी की स्पेशल कॉरस्पॉडेंट प्रशांत झा एवं स्वतंत्र पत्रकार मणिकांत ठाकुर को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर सूचना भवन स्थित ‘‘संवाद’ कक्ष में सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग द्वारा आयोजित संगोष्ठी में प्रेस सहायक जितेंद्र कुमार सिन्हा ने उप निदेशक रवि भूषण सहाय को पुष्पगुच्छ एवं शाल देकर स्वागत करते हुए

संगोष्ठी को दीप प्रज्वलित कर प्रारंभ करने से पूर्व सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सहायक निदेशक डॉक्टर नीना झा ने हिंदुस्तान समाचार के स्टेट हेड श्रीमती रजनी रजनी शंकर को तथा प्रेस सहायक जितेंद्र कुमार सिन्हा ने उप निदेशक रवि भूषण सहाय को पुष्पगुच्छ एवं शाल देकर स्वागत किया ।

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के उप निदेशक रवि भूषण सहाय ने उक्त विषय पर अपने विचारों से अवगत कराते हुए संगोष्ठी का धन्यवाद ज्ञापन किया तथा सहायक निदेशक डॉक्टर नैना जाने संगोष्ठी के प्रारंभ मैं सभी का स्वागत करते हुए तथा संगोष्ठी के विषय पर प्रकाश डालते हुए सभा संचालन कार्य संपन्न किया ।

यह भी पढ़े  बोर्ड कार्यालय की व्यवस्था होगी कम्प्यूटराइज्ड

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here