सीबीएसई परीक्षा में छात्रों को अब 11 प्रश्नों का मिलेगा विकल्प, सवालों के जवाब देने में होगी आसानी

0
234

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 2019 के 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा के प्रश्न पत्र में बदलाव किया है। इस बार बोर्ड परीक्षार्थी को विकल्प वाले प्रश्नों की संख्या अधिक होगी। इससे छात्रों को परीक्षा में सहूलियत के साथ-साथ प्रश्न चुनने का अवसर मिल जायेगा। यह सुविधा पहली बार बोर्ड दे रहा है। अब तक 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा में किसी भी विषय में केवल लांग प्रश्नों के ही विकल्प वाले प्रश्न होते थे। इससे छात्रों को शॉर्ट प्रश्नों के उत्तर देने में कठिनाई होती थी। .

55 विषयों के प्रश्नपत्रों में किया बदलाव 

फिलहाल यह विकल्प का अवसर 10वीं और 12वीं मिलाकर 55 विषयों में दिया जा रहा है। इसमें 12 वीं क्लास में 40 विषयों और 10वीं में 15 विषयों के प्रश्नपत्र शामिल हैं। इन विषयों की परीक्षा में अब एक नहीं बल्कि 10 से 11 प्रश्न विकल्प वाले होंगे। इसकी अधिसूचना भी बोर्ड ने जारी कर दी है। वेबसाइट पर छात्र प्रश्न पत्र के मॉडल प्रश्न में इसे देख सकते हैं। .

यह भी पढ़े  पशु चिकित्सकों पर सरकार मेहरबान,एमबीबीएस डॉक्टरों के बराबर मिलेगा वेतन

सवालों के जवाब देने में होगी आसानी 

शार्ट प्रश्न में भी विकल्प होने से छात्रों को उत्तर देने में आसानी होगी। इतना ही नहीं सारे प्रश्न के जवाब भी दे पायेंगे। बोर्ड परीक्षार्थी को अब किन प्रश्नों का जवाब देना है, वो उसे खुद तय कर पायेंगे। बोर्ड ने 2019 में भी उत्तीर्णता के लिए प्रैक्टिकल और थ्योरी को एक साथ किया है। पहले यह केवल 2018 के लिए ही लागू था। लेकिन 2019 की बोर्ड परीक्षा में भी पास करने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों को साथ किया जायेगा। प्रैक्टिकल और थ्योरी में अलग-अलग पास नहीं करना होगा।.

विकल्प वाले प्रश्नों की संख्या बढ़ाई गई है। इससे प्रश्न छूट जाने की समस्या नहीं रहेगी। छात्र हर प्रश्न का जवाब दे पायेंगे। छात्रों की सहूलियत को ध्यान में रखकर ऐसा किया जा रहा है। -राजीव रंजन, सिटी कॉर्डिनेटर, पटना सीबीएसई .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here