बिहार के सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों में जदयू का सम्मेलन सम्पन्न

0
15
Patna-JDU general secretary, RCP Singh is delivering his lecture during virtual samwad programme with party women wing at his residence in Patna.

सत्ताधारी दल जदयू का बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश के सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों में आहूत वर्चुअल सम्मेलन गुरुवार को समाप्त हो गया। 13 दिनों तक यह सम्मेलन चला। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की 7 अगस्त को होने वाली पहली वर्चुअल रैली स्थगित कर दिया गया है। आज शाम को जदयू की ओर से इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी जाएगी। माना जा रहा है कि बिहार में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण और सूबे के कई जिलों में आई बाढ़ के कारण ऐसा फैसला लिया गया है। 

राष्ट्रीय सचिव रवीन्द्र सिंह  ने बताया कि इस सम्मेलन के लिए पार्टी नेता रामचन्द्र प्रसाद सिंह, बशिष्ठ नारायण सिंह, बिजेन्द्र प्रसाद यादव और राजीव रंजन सिंह ललन के नेतृत्व में चार टीमें बनी थीं। 18 जुलाई से प्रत्येक टीम ने प्रतिदिन चार विधानसभा व 26 जुलाई से छह-छह विस क्षेत्रों के सम्मेलन को संबोधित किया। कहा कि सम्मेलन के माध्यम से पार्टी आम लोगों तक संवाद करने एवं राज्य सरकार के 15 वर्षों की उपलब्धि की जानकारी देने में कामयाब रही। अब कार्यकर्ता अपने-अपने क्षेत्र में 7 अगस्त को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रस्तावित वर्चुअल रैली को सफल एवं ऐतिहासिक बनाने में जुटेंगे।

यह भी पढ़े  गाड़ी चलाते समय साथ रखें डीएल, आरसी और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट

बिहार में हुए काम मिसाल बने 
बिजेन्द्र यादव, संजय झा आदि की टीम ने नालंदा व हिलसा विधानसभा क्षेत्रों के नेताओं व कार्यकर्ताओं से संवाद किया। बिजेंद्र प्रसाद ने कहा कि दुनियाभर के अर्थशास्त्री इस बात पर एकमत हैं कि किसी भी इलाके की गरीबी दूर करने के लिए वहां यातायात व बिजली की सुविधाओं का विस्तार करना चाहिए। बिहार ने सिर्फ 15 वर्षों में सड़कों, पुलों और बिजली पर जितना काम किया है, वह मिसाल है। जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि प्राचीन एवं विश्वप्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय बिहार के गौरवशाली अतीत का प्रतीक है। जिस तुर्क आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी ने इसे जला कर तहस-नहस कर दिया था, विधि की विडंबना देखिए कि करीब आठ सौ साल बाद उसी बख्तियारपुर शहर में जन्में सीएम नीतीश कुमार ने प्राचीन गौरव को पुनर्जीवित किया। ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार जो कहते हैं, उसे पूरा करते हैं। वादे के अनुसार सात निश्चय की योजना लागू की।

यह भी पढ़े  रफ्तार का कहर: पटना में ट्रक और ऑटो की बीच जबरदस्त टक्कर, 4 की दर्दनाक मौत

टाल क्षेत्र में लगता है नीतीश का जयकारा 
सांसद ललन सिंह की टीम में गोह, हिसुआ, र्गोंवदपुर, मोकामा एवं बाढ़ के सम्मेलन को संबोधित किया। ललन सिंह ने कहा,  बाढ़ व मोकामा में मुख्यमंत्री द्वारा किए गए विकास कार्यों से टाल में उनका जयकारा हो रहा है। लोकसभा चुनाव में राजद जिस प्रकार जीरो पर आउट हुआ, विस चुनाव में भी यही होगा।

बिहारशरीफ एवं हरनौत विधानसभा क्षेत्रों में सम्मेलनों को सांसद हरिवंश, मंत्री अशोक चौधरी आदि ने संबोधित किया। श्री चौधरी ने कहा कि राजगीर वैभवशाली परंपरा और मगध साम्राज्य का ध्वजवाहक है। राजगीर को विकास के मुख्य पटल पर लाकर पुरानी परंपरा को जीवंत किया है नीतीश कुमार ने। जो सवाल उठाते हैं उन्हें मगध साम्राज्य के इतिहास में राजगीर के महत्व की जानकारी नहीं है। सांसद हरिवंश ने शिक्षा के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षों में हुए कार्यों की सविस्तार चर्चा की।
कहा, कोरोना एवं बाढ़ की दोहरी चुनौतियों से निबटने में राज्य सरकार द्वारा लिए गए फैसलों को लोगों ने सराहा।

यह भी पढ़े  धान उत्पादन बढ़ाने में सहायक होगी सामुदायिक नर्सरी योजना

हर जिले को नई पहचान दी : आरसीपी 
आरसीपी सिंह ने धमदाहा, मधेपुरा, बाबूबरही, नरकटिया एवं ढाका विधानसभा क्षेत्र के सम्मेलनों को संबोधित किया। कहा कि मुख्यमंत्री ने बिहार के हर जिले के लिए काम किया है और उसे नई पहचान दी है। उन्होंने सबके लिए एक समान सोचा। न्याय के साथ विकास के मार्ग में आने वाली हर बाधा का उन्होंने पूरी मजबूती से सामना किया और उस पर विजय हासिल की। कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि 7 अगस्त को निर्धारित मुख्यमंत्री की वर्चुअल रैली को ऐतिहासिक बनाएं। सूचना जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार ने कोरोना में बिहार का राजकोष आपदा पीड़ितों को अर्पित कर दिया। विधायक अभय कुशवाहा ने भी विचार रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here