चीन के ऐप के खिलाफ सरकार की एक और कार्रवाई की है. 47 ऐप्स पर फिर प्रतिंबध लगाया

0
32

भारत सरकार ने चीन की 47 और एप पर सोमवार को रोक लगाने की घोषणा की है। इसके साथ ही अब तक चीन की कुल 106 मोबाइल एप को देश की संप्रभुता, एकता और सुरक्षा के लिए नुकसानदेह बताते हुए रोक लगाई जा चुकी है।
सूत्रों ने बताया कि जिन 47 नई चीनी एप पर अब रोक लगाई गई है वह पहले बंद की गई एप के ही प्रतिरूप अथवा भिन्न रूप हैं। सूत्र ने बताया कि इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी किया गया था।

इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और इंफोर्मेशन टेक्‍नोलॉजी मंत्रालय द्वारा 47 नई एप को बैन किया गया है। यह सभी एप 29 जून को बैन की गई 59 चीनी एप की क्‍लोन या अन्‍य वेरिएंट हैं। बैन की गई इन एप में टिकटॉक लाइट, हेलो लाइट, शेयरइट लाइट, बीगो लाइव लाइट और वीएफवाई लाइट आदि शामिल हैं।

जिन नई एप पर रोक लगाई गई है उनकी पूरी सूची तुरंत उपलब्ध नहीं हो पाई है और न ही इसके बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ कहा गया है। सरकार ने इससे पहले 29 जून को चीन की 59 एप पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। सरकार ने इन एप को देश की संप्रभुता, एकता और सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाला बताया है।

यह भी पढ़े  हाजीपुर में जुलूस के दौरान दो गुट में झड़प, फायरिंग में 2 की मौत

पिछले सप्ताह सरकार ने देश की सामान्य आर्थिक नियमावली- 2017 में भी बदलाव किया था. जिसके बाद अब किसी भी सरकारी टेंडर में भाग लेना चीन की कंपनियों के लिए मुश्किल हो गया है. सरकार की ओर से जारी किए गए आदेश के मुताबिक अब भारत की सीमाओं से सटे उन्हीं देशों की कंपनियां ठेकों की बोली में भाग ले सकती हैं. जिन्होंने खुद को सक्षम अथॉरिटी में पंजीकृत करवा लिया हो. यह सक्षम अथॉरिटी उद्योग एवं आंतरिक व्यापार प्रोत्साहन विभाग होगा. इसमें पंजीकरण के साथ ही उन कंपनियों को भारत के गृह और विदेश मंत्रालयों से भी अनिवार्य मंजूरी लेनी होगी. उसके बाद ही वे कंपनियां भारत में कारोबार कर पाएंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here