कोरोना से डरने की जरूरत नहीं, कोरोना का रिकवरी रेट 71.54 प्रतिशत है :मुख्यमंत्री

0
42

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है. बिहार में कोरोना का रिकवरी रेट 71.54 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय औसत 62. 42 प्रतिशत है, इसलिए कोरोना संक्रमण से डरने की जरूरत नहीं है. मुख्यमंत्री ने लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की.

मुख्यमंत्री ने एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग से हर हाल में कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाने का निर्देश देते हुए कहा कि डेडिकेटेड कोविड अस्पताल, कोविड हेल्थ सेंटर एवं कोविड केयर में बेडों की संख्या अविलंब बढ़ाई जाए. उन्होंने आइसोलेशन बेडों की संख्या भी बढ़ाने के निर्देश विभाग को दिए.

उन्होंने आइसोलेशन वार्डो में संभावित संक्रमितों की संख्या के अनुपात में वेंटिलेटर, ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर एवं अन्य जरूरी उपकरणों की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश भी विभाग के अधिकारियों को दिए.

नीतीश ने कहा, “आवश्यकतानुसार हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्च र बढ़ाने एवं स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाए.” मुख्यमंत्री ने भारी बारिश के कारण बाढ़ की संभावना को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग को त्वरित कार्रवाई के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि तटबंधों के निकट रहने वाले लोगों के सुरक्षित निष्क्रमण के लिए पूरी तैयारी रखी जाए. साथ ही जल संसाधन विभाग तटबंधों की सुरक्षा को लेकर अलर्ट मोड पर रहें.

यह भी पढ़े  नरेंद्र मोदी ही होंगे पीएम : प्रशांत किशोर

मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना संक्रमित लगातार स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे हैं. शुक्रवार को भी 459 लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौटे हैं, इसलिए लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. लोग धैर्य रखें, सचेत रहें एवं स्वयं जागरूक होकर सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करते रहें.”

वही बिहार के सूचना एवं जन-सम्पर्क सचिव अनुपम कुमार ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर सरकार की ओर से किये जा रहे कार्यों के संबंध में अद्यतन जानकारी दी. उन्होंने बताया कि वर्तमान स्थिति को लेकर राज्य सरकार द्वारा लगातार समीक्षा की जा रही है और गहरी नजर रखी जा रही है. स्वास्थ्य विभाग को टेस्टिंग कैपेसिटी बढ़ाने के लिए कहा गयाहै.

टेस्टिंग कैपेसिटी बढ़ाने पर सरकार की नजर
अनुपम कुमार ने बताया कि सभी प्रमंडलीय आयुक्तों को भी टेस्टिंग पर नजर रखने की जिम्मेदारी दी गई है ताकि जांच की क्षमता शीघ्रता से बढ़ायी जा सके. इसके अलावा आवश्यकतानुरूप हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है. आइसोलेशन बेड्स की संख्या बढ़ायी जा रही है ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो.

यह भी पढ़े  ‘EVM से वोटिंग आज के समय की मांग’

कोविड संक्रमण की स्थिति और अनलॉक-2 को देखते हुए जहां भी कोरोना संक्रमण के ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं, वहां संबंधित जिलाधिकारियों को अपने-अपने जिलों में आवश्यक प्रतिबंध लगाने के लिए अधिकृत किया गया है.

53 फीसदी पूरा हो चुका है राशनकार्ड का वितरण कार्य
अनुपम कुमार ने बताया कि राशनकार्ड विहीन सुयोग्य परिवारों में नए राशनकार्ड का वितरण तेजी से किया जा रहा है. अभी तक गैर राशन कार्डधारी सुयोग्य परिवारों के लिए लगभग 23 लाख 38 हजार नये राशन कार्ड बनाये जा चुके हैं. इनमें से अब तक 12 लाख 36 हजार 954 राशन कार्ड वितरित भी किये जा चुके हैं. इस प्रकार 53 प्रतिशत से कुछ अधिक राशन कार्डों का वितरण किया जा चुका है.

उन्होंने बताया कि रोजगार सृजन पर सरकार का पूरा ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 5 लाख 13 हजार से अधिक योजनाओं के अंतर्गत 10 करोड़ 26 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है.

बिहार में 71.54 फीसदी है रिकवरी रेट
स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना से पिछले 24 घंटे में 459 लोग स्वस्थ हुए हैं. अब तक 10,251 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं और इस प्रकार बिहार का रिकवरी रेट 71.54 प्रतिशत है.

यह भी पढ़े  कश्मीर में बिहार के दो बेटे भी शहीद, मसौढ़ी के संजय सिंह, भागलपुर के रतन ठाकुर शामिल

उनहोंने बताया कि पिछले 24 घंटे में (बुधवार 12 बजे रात्रि से गुरुवार 12 बजे रात्रि तक) कोरोना के 352 नये पॉजिटिव मामले सामने आये हैं और वर्तमान में बिहार के 38 जिलों में कोविड-19 के 3,967 एक्टिव मरीज हैं. स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 7,595 सैंपल्स की जांच की गई है.

वहीं पुलिस मुख्यालय के अपर पुलिस महानिदेशक जितेन्द्र कुमार ने बताया कि सरकार की ओर से 1 जुलाई से लागू अनलॉक-2 के तहत जारी गाइडलाइन का अनुपालन कराया जा रहा है. पिछले 24 घंटे में कोई कांड दर्ज नहीं किया गया है और किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

अनलॉक में अब तक वसूली गई 1.79 करोड़ की राशि
पिछले 24 घंटे में 785 वाहन जब्त किये गये हैं और 13 लाख 93 हजार 265 रूपये की राशि जुर्माने के रुप में वसूल की गई है. इस प्रकार 1 जुलाई से अब तक 04 कांड दर्ज किये गये हैं और 04 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है. कुल 6,388 वाहन जब्त किए गए हैं और 01 करोड़ 79 लाख 87 हजार रुपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here