एक बार फिर पटना में कल से होगा लॉकड़ाउन,पूर्णिया, नवादा, बक्सर, भागलपुर और किशनगंज में रहेगी कई पाबंदियां

0
25

राज्य में बढ़ते कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए पटना व भागलपुर में एक–एक सप्ताह और नवादा‚ सुपौल व बक्सर में तीन दिनों के लिए लॉकड़ाउन की घोषणा की गई है। पटना व बक्सर में शुक्रवार से वहीं भागलपुर‚ सुपौल व नवादा में गुरुवार से लॉकड़ाउन शुरू होगा। सुपौल जिला मुख्यालय के नगर परिषद क्षेत्र में ही लॉकडाउन रहेगा। 

पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने बुधवार को यहां बताया कि पिछले तीन सप्ताह में पटना जिले में कोविड–१९ के मामले काफी तेजी से बढे हैं। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए पूरे जिले में १० जुलाई से १६ जुलाई एक सप्ताह तक लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया है। रवि ने बताया कि आलोच्य अवधि में जिले के सभी निजी एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे लेकिन जन वितरण प्रणाली (पीडीएस) समेत खाद्य पदार्थ की दुकानें‚ फल एवं सब्जी‚ दूध एवं डेयरी‚ मांस एवं मछली और पशुओं के चारे की दुकानें खुली रहेंगी। पब्लिक ट्रांसपोर्ट से संबंधित वाहनों का परिचालन पूर्ववत जारी रहेगा। हालांकि फल–सब्जी तथ मांस–मछली की दुकानों को सुबह छह बजे से १० बजे तक और शाम चार बजे से सात बजे तक खोलने की अनुमति होगी। जिलाधिकारी ने बताया कि इनके अलावा बैंक एवं बीमा कर्यालय‚ एटीएम‚ प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया‚ दूरसंचार‚ इंटरनेट और सूचना प्रौद्योगिक आधारित सेवाएं‚ ई–कॉमर्स के माध्यम से खाद्यान्न‚ दवाई एवं उपकरण की डिलिवरी‚ पेट्रोल पंप‚ रसोई गैस‚ विद्युत उत्पादन एवं वितरण‚ कोल्ड स्टोरेज एवं वेयरहाउस‚ निजी सुरक्षा सेवाएं‚ औद्योगिक प्रतिष्ठान एवं अस्पताल सेवाएं बहाल रहेंगी। रवि ने बताया कि इस दौरान रक्षा‚ केंद्रीय सुरक्षा बल‚ ट्रेजरी‚ सीएनजी–एलपीजी एवं पीएनजी‚ आपदा प्रबंधन‚ विद्युत उत्पादन एवं वितरण‚ डाकघर‚ नेशनल इंफॉर्मेटिक सेंटर‚ मौसम पूर्वानुमान कार्यालयों को छोड़कर सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे। हालांकि इस दौरान पुलिस‚ होमगार्ड‚ नागरिक रक्षा‚ अग्निशमन एवं आपात सेवाएं‚ आपदा प्रबंधन‚ निर्वाचन एवं कारा विभाग के कार्यालय‚ जिला प्रशासन‚ जल एवं स्वच्छता और नगरपालिका कार्यालय खुले रहेंगे। नगरपालिका कार्यालय में केवल सफाईकर्मी एवं जलापूर्ति कर्मचारी ही आएंगे।

यह भी पढ़े  आपसी सहमति या कोर्ट के फैसले से ही निकलेगा अयोध्या विवाद का हल- नीतीश कुमार

बिहार में अनलाॅक डाउन के बाद से काेराेना के लगातार बढ़ते मामले काे देखते हुए पटना समेत 6 जिलाें में फिर से लाॅकडाउन लागू कर दिया गया। पटना और पूर्णिया में 10 से 16 जुलाई, नवादा और बक्सर में 10 से 12 जुलाई, भागलपुर में 9 से 16 जुलाई व किशनगंज में 9 जुलाई तक पाबंदियां लगाई गई हैं। लाॅकडाउन का यह फैसला इन जिलाें के डीएम ने अपने-अपने स्तर से लिया है। इसे बिहार में बुधवार को काेराेना ब्लास्ट से जाेड़कर देखा जा रहा है।

पटना जिला 10 से 16 जुलाई तक लॉकडाउन में रहेगा। इस दौरान केवल आवश्यक सामग्री में शामिल दूध, दवा, किराना, पशु चार के दुकान के साथ गाड़ी बनाने वाला गैराज खुला रहेगा। इन दुकानों को तय समय के अनुसार खोलने और बंद करने की छूट दी गयी है। लेकिन सब्जी, फल, मछली, मीट की दुकान को खोलने और बंद करने का समय निर्धारित किया गया है। सुबह 6 बजे से 10 बजे तक और शाम 4 बजे से 7 बजे तक ही सब्जी, फल, मछली, मीट की दुकान को खोलने की अनुमति दी गयी है। इसके अलावे सभी तरह की दुकान, मॉल, शॉपिंग मॉल आदि बंद रहेंगे। आदेश का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़े  बसपा को मध्य प्रदेश में अब तक का सबसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद

पाबंदी : पटना के सभी धर्मस्थल बंद

  • सभी धर्मस्थल बंद रहेंगे। यानी मंदिर में पूजा, मस्जिद में नमाज, चर्च में प्रार्थना और गुरूद्वारा में दर्शन पर रोक।
  • आवश्यक सेवा को छोड़ निजी आफिस बंद रहेंगें।
  • गांधी मैदान सहित शहर के सभी पार्क बंद रहेंगे। मॉर्निंग वाक पर रोक रहेगी।
  • भवन निर्माण कार्य चालू रहेगा, लेकिन संबंधित दुकान नहीं खुलेगी।

समारोह से पहले थाने की अनुमति जरूरी होगीनिमंत्रण पत्र के माध्यम से लोगों को बुलाकर किसी भी समारोह के लिए भी थाने से अनुमति लेना होगा। चाहे ये कार्यक्रम घर में ही क्यों न हो। इसके अलावा होटल, बैंक्विट हॉल, मैरिज हॉल, कम्युनिटी हॉल अथवा विवाह परिसर आदि में आयोजित समारोह के लिए भी थानाध्यक्ष को आवेदन देकर अनुमति लेना अनिवार्य है। अधिकतम 50 व्यक्ति ही समारोह में शामिल हो सकेंगे।

जिले के इंट्री प्वाइंट व शहर के अंदर जांच
जिले के इंट्री प्वाइंट और शहर के अंदर जगह-जगह जांच होगी। इसके लिए मजिस्ट्रेट, पुलिस पदाधिकारी, पुलिस बल की प्रतिनियुक्त की जा रही है। ताकि, अनावश्यक रूप से बाहर निकलने वालों पर कार्रवाई की जा सके।

सभी लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य
बाहर निकलने से पहले मास्क अनिवार्य होगा। सार्वजनिक जगह जैसे अस्पताल आदि जगहों पर सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन और सैनिटाइजर का उपयोग अनिवार्य होगा। मानक का अनुपालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई होगी।

छूट : सभी अस्पताल खुले रहेंगे, बिना पास वाहन चलेंगे

जरूरी होने पर ही गाड़ी निकालें
जिले में सार्वजनिक और निजी गाड़ियों का परिचालन चालू रहेगा। पास की जरूरत नहीं होगी। पूछ-ताछ के दौरान बाहर निकलने का कारण बताना होगा। अनावश्यक रूप से बाहर निकलने वालों पर कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़े  मध्य प्रदेश: मास्क पहनकर MP विधानसभा पहुंचे विधायक, फ्लोर टेस्ट पर अब भी सस्पेंस

एयरपोर्ट, स्टेशन, बस स्टैंड
एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड से घर जाने में किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। सार्वजनिक वाहन से घर जा सकेंगे। इसी तरह घर से निकल कर सार्वजनिक और निजी वाहन से एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड जा सकते हैं।

होम डिलिवरी
ई-कॉमर्स सेवा चालू रहेगी। इसके अलावा किराना, दूध, दवा, ई-कॉमर्स होम डिलिवरी चालू रहेगा। आम आदमी के मूवमेंट को रोकने के लिए होम डिलिवरी को बढ़ावा दिया जा रहा है।

होटल में सावधानी जरूरी
होटल में आतिथ्य सेवा होगा। सभी को मास्क पहनना, सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन और सैनिटाइजर का उपयोग अनिवार्य होगा। मानक का उल्लंघन करने पर कार्रवाई होगी।

सभी अस्पताल खुलेंगे
सरकारी एवं निजी हॉस्पिटल और मेडिकल प्रतिष्ठान, डिस्पेंसरी ,केमिस्ट एवं मेडिकल सामग्री की दुकानें, लैबोरेट्री, क्लीनिक, नर्सिंग होम, एंबुलेंस आदि की सेवाएं जारी रहेंगी।

सरकारी कार्यालय खुलेंगे, कर्मियों की न्यूनतम उपस्थिति अनिवार्य
सरकारी कार्यालय में जिला प्रशासन, पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, ट्रैजरी, बिजली, वाटर, नगर निगम, बैंक, एटीएम, पोस्ट ऑफिस, बीमा कंपनी, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, ब्राडकास्टिंग सर्विस यानी केबल सर्विस, इंटरनेट, पेट्रोल पंप, एलपीजी, शेयर मार्केट, कोल्ड स्टोरेज, प्राइवेट सिक्युरिटी गार्ड, इंडस्टिज, होटल मिनिमम कर्मचारी के साथ चलाना है। जुडीशियल गाइड लाइन के अनुसार न्यायालय चलेगा। अस्पताल, डॉक्टर की क्लिनिक चलेगा।

केंद्र के भी ये दफ्तर खुले रहेंगे

केंद्र सरकार के सुरक्षा, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, कोषागार, पोस्टल, जनोपयोगी सेवाएं (सीएनजी, एलपीजी, पीएनजी) आपदा प्रबंधन ,बिजली उत्पादन एवं ट्रांसमिशन इकाई, एनआईसी, अर्ली वार्निंग एजेंसी खुली रहेंगी। इन सभी जगहों पर न्यूनतम कर्मचारी के नियम लागू रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here