नवंबर तक पीएम गरीब कल्‍याण योजना का विस्‍तार, 80 करोड़ लोगों को मिलेगा मुफ्त राशन: PM मोदी

0
29

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश को संबोधित किया.कोरोना संकट पर बोलते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब से देश में अनलॉक-वन हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही. पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था. अब सरकारों, स्थानीय निकाय की संस्थाओं, नागरिकों को फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है. कंटेनमेंट जोन पर हमें बहुत ध्यान देना होगा. जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना, रोकना और समझाना होगा.

कोरोना काल में देश के नाम छठी बार संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा क‍ि अनलॉक होने के बाद लापरवाही देखने को मिल रही है. हालांकि लॉकडाउन के दौरान भारत ने कोरोना के खिलाफ नियमों का पालन किया जिसके चलते हजारों जिंदगियां बचीं. कोरोना से लड़ते-लड़ते हम Unlock-2 में प्रवेश कर रहे हैं, हम इस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं, जहां सर्दी-खांसी बुखार न जाने क्या-क्या होता है. मामले बढ़ जाते हैं. मेरी प्रार्थना है कि अपना ध्यान रखें. कोरोना से होने वाली मृत्यु दर देखें तो भारत संभली हुई स्थिति में हैं. समय पर लिए हुए फैसलों ने लाखों लोगों का जीवन बचाया है.

संक्रमण से बचने के लिए सतर्कता जरूरी
उन्‍होने कहा कि लेकिन अनलॉक-1 में लापरवाही बढ़ी. पहले हम दो गज की सामाजिक दूरी, हाथ धोने को लेकर सजग थे लेकिन इसमें शिथिलता देखी गई. आज हमेंं ज्यादा सतर्कता की जरूरत है. Lockdown में नियमों का पालन किया गया था. देश को फिर से उसी तरह की सतर्कता की जरूरत है विशेषकर कंटेनमेंट जोन में जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उनको रोकना-टोकना समझाना होगा. देश के एक पीएम पर जुर्माना इसलिए लग गया क्योंकि वो बिना मास्क लगाए पहुंच गए थे. उसी तरह स्थानीय प्रशासन को चुस्ती दिखाना होगा. गांव का प्रधान हो या देश का पीएम, कोई भी नियमों से उपर नहीं है.

यह भी पढ़े  पशुधन उत्पाद संबंधी जरूरतों की पूर्ति को बना नया मास्टर प्लान

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान गरीबों को हर किसी ने खाना खिलाया. समय पर फैसले लेने से संकट का मुकाबला संभव है. 20 करोड़ गरीबों के जनधन खाते में पैसे डाले. गांवों में रोजगार देने के लिए तेजी से काम कर रहे हैं. गांवों में रोजगार के लिए 50 हजार करोड़ खर्च कर रहे हैं. 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को 3 महीने का राशन मुफ्त मिला.

पीएम मोदी ने कहा कि सभी ने प्रयास किया कि इतने बड़े देश में कोई भी भाई-बहन भूखा न सोए. संवेदनशीलता से फैसले लेने से शक्ति अनेक गुना बढ़ जाती है. पीएम कल्‍याण योजना के तहत पौने दो लाख करोड़ का पैकेज दिया. 20 करोड़ गरीबों के खाते में 31 हजार करोड़ जमा कराए गए. 9 करोड़ किसानों के खाते में 9 हजार करोड़ जमा कराए गए. रोजगार के लिए तेज गति से काम हो रहा है. सरकार 50 हजार करोड़ खर्च कर रही है. कोरोना से लड़ते हुए 80 करोड़ लोगों को 3 महीने तक राशन मुफ्त दिया गया. अमेरिका की कुल जनसंख्या से ढाई गुना, ब्रिटेन की 12 गुना ज्यादा लोगों को मुफ्त में अनाज दिया गया है.

यह भी पढ़े  आज यूपी और बंगाल में मोदी की पांच जनसभाएं, हरियाणा एमपी दिल्‍ली में राहुल की रैलियां,आज सीएम, रामविलास व सुमो की चार चुनावी सभाएं

महत्वपूर्ण घोषणाएं
वर्षा ऋतु के दौरान कृषि क्षेत्र में ज्यादा काम होता है, अन्य दूसरे सेक्टर में थोड़ी सुस्ती होती है. त्‍योहारों का सीजन भी शुरू हो रहा है. इन सबको देखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्‍न योजना का विस्तार नवंबर के आखिर तक किया जाएगा. 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना का लाभ मिलेगा. इन 5 महीनों के लिए 5 किलो गेहूं और प्रत्येक परिवार को एक किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा. 90 हजार करोड़ का खर्च आएगा. पिछले तीन महीने का खर्च जोड़ दे तो पूरे डेढ़ लाख करोड़ का खर्च आएगा.

एक देश, एक राशन कार्ड की व्‍यवस्‍था
पीएम मोदी ने कहा कि पूरे भारत के लिए एक राशन कार्ड की व्यवस्था हो रही है. इससे उनको फायदा होगा, जो एक राज्य से दूसरे राज्य जाते हैं. उन्‍होंने कहा कि इसके लिए हमारे देश के मेहनती किसानों और ईमानदार करदाताओं को श्रेय जाता है. इनकी वजह से देश मदद कर पा रहा है आपने ईमानदारी से टैक्स भरा है इसलिए देश का गरीब इतने बड़े संकट का मुकाबला कर पा रहा है. हम हर किसी को सशक्त करने के लिए काम करेंगे. हम सारे एहतियात के साथ आर्थिक गतिविधियों को अंजाम देंगे. लेकिन इसके साथ ही कोरोना के खिलाफ जंग में दो गज की दूरी, गमछा-फेस कवर के इस्‍तेमाल में कोई लापरवाही नहीं बरतिए.

यह भी पढ़े  राज्यसभा में आज पेश होगा नागरिकता संशोधन बिल , शिवसेना-JDU पर नजर, 12 बजे से बहस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here