चीन के ग्लोबल प्लान पर कोरोना वायरस का ‘बुरा असर’, BRI के प्रोजेक्ट्स पर लगा ब्रेक

0
27

एक तरफ जहां कोरोना वायरस फैलाने के लिए कई देश चीन को जिम्मेदार बता रहे हैं, वहीं वुहान में जन्मी इस महामारी ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बड़े सपनों को भी गहरी चोट दी है. कोरोना वायरस के चलते अरबों डॉलर की चीन की महत्वकांक्षी परियोजना (BRI) के प्रोजेक्ट्स पर बुरा असर पड़ा है. राष्ट्रपति बनने के बाद शी जिनपिंग ने BRI योजना 2013 में लॉन्च की थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने चीन के एक अधिकारी के हवाले से ये जानकारी दी है. चीनी विदेश मंत्रालय के अंतरराष्ट्रीय आर्थिक मामलों के विभाग के महानिदेशक वांग चियालोंग के मुताबिक चीन के ग्लोबल प्लान को विस्तार देने के लिए एशिया, अफ्रीका और यूरोप में कोरोबार और निवेश को बढ़ावा देने के मकसद से शुरू की गई BRI की परियोजनाओं का करीब पांचवां हिस्सा कोरोना वायरस महामारी से ‘बुरी तरह प्रभावित’ हुआ है.

वांग चियालोंग का कहना है कि करीब 40 फीसदी प्रोजेक्ट्स बुरी तरह प्रभावित हुए हैं, जबकि 40 फीसदी पर कुछ असर पड़ा है.

यह भी पढ़े  ट्रंप पर छाया पीएम मोदी का जादू, अपनी रैली में कहा- वहां 1 लाख...यहां सिर्फ 15 हजार

2013 में शुरू हुई BRI योजना

BRI की शुरुआत चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 2013 में की थी. इसका मकसद सड़क और समुद्री रास्ते के जरिए से साउथ-ईस्ट एशिया, मध्य एशिया, खाड़ी क्षेत्र, अफ्रीका और यूरोप को जोड़ना है.

चीन-पाक आर्थिक गलियारा भी BRI का हिस्सा

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में स्थित ग्वादर बंदरगाह को चीन के शिनजियांग प्रांत से जोड़ने वाला चीन-पाक आर्थिक गलियारा (CPEC) भी इसी BRI के तहत बनाया जा रहा है. ये प्रोजेक्ट करीब 60 अरब अमेरिकी डॉलर का है. चीन के इस प्रोजेक्ट पर भारत ऐतराज जताता रहा है, क्योंकि यह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) से होकर गुजरता है. फिलहाल, लद्दाख में दोनों देश आमने-सामने हैं. चीन भारत के BRO द्वारा बनाई जा रही सड़कों का विरोध कर रहा है और मई महीने से दोनों देशों की सेनाओं के बीच तकरार चल रहा है.

वहीं, चीन अब कोरोना वायरस महामारी से उबर रहा है. अब यह वायरस अमेरिका, रूस, ब्राजील और भारत समेत दुनिया के अन्य मुल्कों में कोहराम मचा रहा है. ऐसे में सामान्य होते हालात के बीच चीन बीआरआई (BRI) के प्रोजेक्ट्स को लेकर फिर एक्टिव हो गया है. चीन ने पिछले हफ्ते ही BRI की पहली वीडियो कॉन्फ्रेंस की और तमाम पहलुओं पर चर्चा की.

यह भी पढ़े  इंडोनेशिया के सुंडा में सुनामी ने मचाई तबाही, 46 की मौत 600 घायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here