राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या पहुंची 9224 पर , सूबे के मंत्री और उनकी पत्नी भी हुए कोरना संक्रमित

0
45

राज्य में कोविड़–19 ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया है। रविवार को जहां कोविड़–19 की चपेट में आने से तीन लोगों की मौत हो गयी‚ वहीं एक दिन में 245 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी। इसके साथ ही प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 9224 पहुंच गयी है। इस बीच‚ राज्य के पिछड़़ा व अतिपिछडा वर्ग कल्याण मंत्री विनोद सिंह और उनकी पत्नी भी कोविड़–19 की चपेट में आ गये हैं। कटिहार के जिलाधिकारी कंवल तनुज ने बताया कि रविवार को मंत्री विनोद सिंह और उनकी पत्नी की स्वैब सैम्पल की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी। दोनों को फिलहाल कटिहार के ही एक होटल में बने आइसोलेशन वार्ड़ में रखा गया है। इनके संपर्क में आने वाले लोगों को चिह्नित करने का काम शुरू कर दिया गया है।

बीते एक हफ्ते में मंत्री कटिहार के दो दर्जन आयोजनों में शामिल रहे। वह भोजपुर के प्रभारी मंत्री के रूप में 19 जून को शहीद चंदन के गांव (ज्ञानपुरा) गए थे। श्रद्धांजलि के मौके पर कृषि मंत्री प्रेम कुमार, कई एमएलए, डीएम-एसपी तथा सेना के बड़े अफसर भी थे। शुक्र है कि वह कैबिनेट की पिछली बैठक में नहीं थे।

यह भी पढ़े  तीन तलाक दिया तो अब जाना पड़ेगा जेल, मोदी कैबिनेट ने अध्यादेश पर लगाई मुहर

वरना जांच का दायरा और विस्तारित होता। लेकिन, राजनीतिक गलियारे में सब एक-दूसरे से पूछ रहे हैं कि ‘आप विनोद से कब मिले थे?’ मंत्री व उनकी पत्नी का कोरोना टेस्ट पटना में ही हुआ। इसके बाद दोनों कटिहार गए।

19 जून को ज्ञानपुरा में शहीद चंदन को श्रद्धांजलि देने जुटे लोगों में विनोद सिंह के साथ राजद विधायक राम विशुन सिंह लोहिया, भाजपा प्रवक्ता संजय टाइगर, माले नेता राजू यादव, मेजर जनरल बीडी राय, लेफ्टिनेंट कर्नल वीपी सिंह, मेजर अगस्त ऋषि, महेंद्र सिंह व बड़ी संख्या में नेता व अन्य लोग थे। कटिहार के डीएम के. तनुज बोले-मंत्री और उनकी पत्नी के संपर्क में आने वालों की सूची तैयार की जा रही है। उनके परिजन सहित उनके सहकर्मी एवं सुरक्षा कर्मी का टेस्ट होगा।

बोले विनोद-मैं नहीं जानता कि कहां संक्रमित हुआ?
मंत्री बोले-मैं कह नहीं सकता कि किसके संपर्क में आने से और कहां सक्रमित हुआ? मैं रोजाना सैकड़ों लोगों से मिलता हूं।  कई जगह जाता हूं। अभी तक मेरे परिवार और बिल्कुल साथ के 15 लोगों का सैंपल लिया जा चुका है। गौरतलब है कि मंत्री ने 23 जून को मोदी सरकार के एक साल के मौके पर उपलब्धि पत्र कई जगहों पर घूमकर खुद भी बांटा था।

यह भी पढ़े  मृत्युंजय तीसरी बार बने बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष

इधर पटना में स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार में पिछले 24 घंटे में कोरोना से जंग जीतकर 226 मरीज लौटे हैं. वही विडंबना यह है कि पिछले 24 घंटे में 4 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है. ये चारों मरीज पटना, रोहतास, नवादा और अरवल से बताए जा रहे हैं. इसी के साथ बिहार में कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद 62 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. हालांकि कोरोना से अब तक 7156 मरीज स्वस्थ हो कर लौट चुके हैं. बिहार में कोरोना रिकवरी रेट 78 फीसदी तक पहुंच गया है.

पिछले 24 घंटे में बिहार में कोरोना सक्रिय मरीजों की संख्या 258 पर पहुंच गई है. इसी के साथ बिहार में फिलहाल कोरोना के 1898 मामले सक्रिय हैं. अच्छी बात यह है कि बिहार में कोरोना के 2 लाख से अधिक सैंपल्स की जांच की जा चुकी है.

स्वास्थ्य विभाग ने इस बात की भी जानकारी दी है कि बिहार में कोरोना टेस्टिंग कैपेसिटी भी काफी हद तक अपने टारगेट के करीब पहुंच चुकी है. बिहार में फिलहाल प्रतिदिन 8 हजार से ऊपर कोरोना सैंपल्स की जांच की जाती है.

यह भी पढ़े  राजस्थान विधानसभा चुनाव: कांग्रेस की पहली लिस्ट जारी होते ही हंगामा शुरू, आधी रात राहुल गांधी के घर के सामने नारेबाजी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here