45 साल पहले देश पर आपातकाल थोपा गया था: PM मोदी

0
17

 25 जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कहने पर तत्कालीन राष्ट्रपति फखरूद्दीन अली अहमद ने आपातकाल की घोषणा की थी। आज आपातकाल के ऐलान को 45 साल हो गए हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उस वक्त को याद किया और उन लोगों को नमन किया, जिन्होंने उस वक्त इसके खिलाफ संघर्ष किया तथा यातनाएं झेलीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वीडियो ट्वीट कर लिखा, “आज से ठीक 45 वर्ष पहले देश पर आपातकाल थोपा गया था। उस समय भारत के लोकतंत्र की रक्षा के लिए जिन लोगों ने संघर्ष किया, यातनाएं झेलीं, उन सबको मेरा शत-शत नमन! उनका त्याग और बलिदान देश कभी नहीं भूल पाएगा।”

वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने भी आपातकाल के मुद्दे पर एक बार फिर कांग्रेस को घेरा. शाह ने ट्वीट करते हुए आपातकाल को याद किया और कहा एक परिवार के लालच ने एक ही रात में देश को जेल में बदल दिया.शाह ने गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए लिखा, “आज के दिन, 45 साल पहले एक परिवार के सत्ता के लालच ने देश को आपातकाल में धकेल दिया. रातों-रात देश एक जेल में तब्दील हो गया. प्रेस, अदालत, अभिव्यक्ति की आजादी…सबको खत्म कर दिया गया. गरीबों पर अत्याचार किए गए.”

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा, “भारत उन सभी महानुभावों को नमन करता है, जिन्होंने भीषण यातनाएं सहने के बाद भी आपातकाल का जमकर विरोध किया। ये हमारे सत्याग्रहियों का तप ही था, जिससे भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों ने एक अधिनायकवादी मानसिकता पर सफलतापूर्वक जीत प्राप्त की।” इसके साथ ही नड्डा ने इंफोग्राफिक्स भी ट्वीट किया।

बता दें कि इतिहास में 25 जून का दिन भारत के लिहाज से एक महत्वपूर्ण घटना का गवाह रहा है। आज ही के दिन 1975 में देश में आपातकाल लगाने की घोषणा की गई जिसने कई ऐतिहासिक घटनाओं को जन्म दिया। 26 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक की 21 महीने की अवधि में भारत में आपातकाल था।

यह भी पढ़े  जन्मदिन विशेष : आज अपना 50वां जन्मदिन माना रहे है राहुल गांधी

तत्कालीन राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी के नेतृत्व वाली सरकार की सिफारिश पर भारतीय संविधान के अनुच्छेद 352 के अधीन देश में आपातकाल की घोषणा की थी। स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह सबसे विवादास्पद काल था। आपातकाल में चुनाव स्थगित हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here