राम जन्मभूमि परिसर में शिवलिंग का 28 साल बाद हुआ रुद्राभिषेक

0
55

अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में कुबेर टीले पर कुबेरेश्वर महादेव का रुद्राभिषेक किया गया. रुद्राभिषेक के समय महंत कमलनयन दास के साथ संत सभा अध्यक्ष कन्हैया दास, आचार्य आनंद शास्त्री भी मौजूद रहे. पिछले 28 साल से रामजन्म भूमि के अधिग्रहण होने के बाद से ही यहां कुबेरेश्वर महादेव की पूजा नहीं हुई थी.
अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में कुबेर टीले पर कुबेरेश्वर महादेव का रुद्राभिषेक किया गया. रुद्राभिषेक के समय महंत कमलनयन दास के साथ संत सभा अध्यक्ष कन्हैया दास, आचार्य आनंद शास्त्री भी मौजूद रहे.
महंत कमलनयन दास ने बताया कि राष्ट्रीय विघ्न बाधा, महामारी कोरोना संक्रमण दूर हो, भगवान श्री राम का भव्य मंदिर निर्माण हो, इस कामना के साथ रुद्राभिषेक किया गया. आचार्यों ने विधिविधान से रुद्राभिषेक करवाया. पिछले 28 साल से रामजन्म भूमि के अधिग्रहण होने के बाद से ही यहां कुबेरेश्वर महादेव की पूजा नहीं हुई थी. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के प्रयास पर कहा उनसे मिलकर अयोध्या आकर रामलला के मंदिर का शिलान्यास करने के लिए आमंत्रित करेंगे. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपालदास के उत्तराधिकारी हैं.
बता दें कि रामलला का भव्य मंदिर बनने के बाद कुछ ऐसा दिखेगा. इस मंदिर में वैसा राम दरबार भी बनाया जाएगा जैसा कि रामायण सीरियल में दिखाया गया है. राम मंदिर निर्माण की तैयारियां जैसे मंदिर के लिए शिलाएं, ईटें आना, नक्काशी का काम पिछले तीन दशकों से अयोध्या में लगातार जारी है. इस समय राम जन्मभूमि परिसर में समतलीकरण का काम चल रहा है.
बीते 25 मार्च 2020 को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए रामलला को टेंट से अस्थाई मंदिर में स्थानांतरित किया था.

यह भी पढ़े  Bihar COVID-19: एक दिन में ही बढ़ गए कोरोना के 6 नए मरीज, अब 38 पहुंची संख्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here