फौकानिया परीक्षा में 80932 परीक्षार्थियों में केवल चार को प्रथम श्रेणी

0
173

बिहार राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड की फौकानिया परीक्षा (मैटिक समकक्ष) में सख्ती के कारण रिजल्ट चौंकाने वाला आया है। 80932 परीक्षार्थियों में से मात्र चार ही प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। बोर्ड सचिव मो. जाहिद हुसैन ने रिजल्ट जारी करते हुए कहा कि परीक्षा केंद्रों पर सख्ती और मूल्यांकन में सीसीटीवी कैमरे से मॉनीटरिंग के कारण प्रथम श्रेणी से पास छात्र-छात्रओं की संख्या कम हुई है। इससे सीख लेते हुए विद्यार्थी और मेहनत करेंगे तो रिजल्ट बेहतर होगा। सीवान के फिदाउल मुस्तफा 766 अंक प्राप्त कर बना फौकानिया परीक्षा 2017 का टॉपर बना है। दूसरा स्थान पूर्णिया के मो. शहजाद ने प्राप्त किया 729 अंक। तीसरे स्थान पर नालंदा की कनीज फातिमा रही। उन्हें 728 अंक मिले। 722 अंक प्राप्त कर मो. शाबन चौथे स्थान पर रहे। परीक्षा में शामिल 30,550 छात्रों में 18878 तथा 50,382 छात्रओं में 30,511 को सफलता मिली है। 40.43 फीसद द्वितीय और 20.59 फीसद तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। परीक्षार्थी बिहार राज्य मदरसा बोर्ड की वेबसाइट पर फौकानिया का रिजल्ट देख सकते हैं। मौके पर परीक्षा नियंत्रक सैयद सबाहुद्दीन, इंस्पेक्टर मदरसा बोर्ड डॉ. मो. नूर इस्लाम आदि मौजूद थे। 1जारी रहेगी परीक्षा और मूल्यांकन में सख्ती : सचिव ने बताया कि फौकानिया सहित बोर्ड की सभी परीक्षाओं में सख्ती जारी रहेगी। पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी ही अब उत्तीर्ण होंगे। बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए मदरसों में सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं। इसका परिणाम आगामी परीक्षाओं में दिखेगा।

यह भी पढ़े  प्रदेश के विवि में कल छात्र हड़ताल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here